कॉल कर बनाई जाती थी अश्लील वीडियो, हनी ट्रैप में फंसाने वाले गैंग का पर्दाफाश

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 08:47 PM IST
मेरठ. फलावदा में एक कोचिंग संचालक की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मृतक सोनू सकौदी गांव के रहने वाले थे व घर से मवाना बड़ा कारखाना के पास स्थित अपने कोचिंग सैंटर जा रहे थे. पीछे से स्कूटी सवार दो युवकों ने उन्हें गोली मार दी. अस्पताल ले जाते समय रास्ते में सोनू की मौत हो गई. वहीं वारदात से गुस्साए लोगों ने फलावदा मवाना मार्ग पर जाम लगा दिया. एसडीएम व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे. मामले की गंभीरता को देखते हुए आरआरटीम को भी तैनात कर दिया है. फिलहाल हत्यारोपियों की तलाश के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है और घटना के जल्द खुलासे का दावा किया है.                                                                              मेरठ पुलिस ने हनी ट्रैप में फंसाने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग राजस्थान में अरावली की पहाड़ियों से चल रहा था. पुलिस के मुताबिक सबसे पहले लड़कियों के फेसबुक आईडी से मैसेंजर पर फ्रैंड रिक्वेस्ट भेजी जाती है फिर व्हाट्सएप चैटिंग और इसके बाद वीडियो काल का सिलसिला शुरू होता है. वीडियो काल के जरिए अश्लील वीडियो बना ली जाती है. इसके बाद ब्लैकमेलिंग का खेल शुरू कर दिया जाता है. पैसा ना देने पर अश्लील वीडियो को फेसबुक आईडी पर टैग करने की धमकी दी जाती थी. पुलिस के मुताबिक राजस्थन के अलवर से 35 किलोमीटर दूर अरावली की पहाड़ियों के निकट बसे गांव के लोग यह गैंग चला रहे थे. एसएसपी अजय साहनी के निर्देश पर सर्विलांस सेल ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया है. इनकी पहचान हनीफ खान, कल्लू खान और मौसम के रूप में हुई है.                                          शास्त्री नगर इलाके से सोमवार को अगवा हुए ट्रांसपोर्टर के बेटे आरिफ का पता चल गया है. पुलिस ने उसे दिल्ली से सकुशल बरामद कर लिया है. पुलिस की एक टीम उसे लेकर मेरठ के लिए रवाना हो चुकी है. हालांकि पुलिस अफसरों के मुताबिक यह अपहरण का मामला नहीं था. पुलिस के मुताबिक प्रेस वार्ता कर घटना की विस्तृत जानकारी दी जाएगी.                                                    मेरठ से 11 सीटों पर एमएलसी चुनाव की घोषणा हो चुकी है. कार्यकाल छह मई को ही समाप्त हो चुका है. लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते चुनाव प्रक्रिया टल गई थी. अब अनलॉक होने पर चुनाव आयोग ने विधान परिसर की सीटों के लिए चुनाव की घोषणा कर दी है. मेरठ और सहारनपुर मंडल के सभी नौ जिलों में चुनाव आचार संहिता लागू कर दी गई है. पांच नवंबर को चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी. दीपावली से पहले नामांकन प्रक्रिया चलेगी एक दिसंबर को मतदान होगा. तीन दिसंबर को मतगणना होगी.                                                                                                    धूल और धुएं के प्रदूषित कणों से बेहद खतरनाक स्थिति से गुजर रहे मेरठ के हालात और खतरनाक होते जा रहे हैं. अप्रत्याशित रूप से तेजी से फिसले तापमान के चलते प्रदूषक अब निचली सतह पर एकत्र होने लगे हैं. शांत हवा प्रदूषण की इस स्थिति में आग में घी डालने का काम कर रही है. ऐसे में अगले हफ्ते तक जहरीली धुंध की आशंका बढ़ गई है. तापमान में उछाल नहीं आया और तेज हवा नहीं चली तो दिवाली से ठीक पहले मेरठ में सांस लेने का संकट हो जाएगा. आपको बताते चलें कि मेरठ देश के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में नौवें और प्रदेश में पांचवें नंबर पर है. यहां हवा की गुणवत्ता 344 दर्ज हुई. जो बेहद खराब श्रेणी में माना जाता है.

सम्बंधित वीडियो गैलरी