मेरठ: सपा नेता के घर पर बरसाईं गोलियां.

Smart News Team, Last updated: 06/10/2020 07:29 PM IST
  • पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजीकरण के खिलाफ पश्चिमांचल में बिगुल बज चुका है. सोमवार से ऊर्जा भवन में शुरू हुआ प्रदर्शन आज दूसरे दिन भी जारी रहा. बिजली विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारी सुबह 10 बजे ही दफ्तर छोड़ ऊर्जा भवन पहुंच गए. बिजली विभाग के कर्मचारियों के द्वारा हड़ताल के चलते शहर में लोगों को बिजली की समस्याओं से जूझना पड़ सकता है. हालांकि प्रशासन का कहना है कि हम बिजली विभाग के सभी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं. कर्मचारियों का कहना है कि अगर हमारी मांगे नहीं मानी गई तो हम जेल जाने के लिए तैयार हैं. हमारी दिवाली जेल में ही बनेगी.
  •  बिजली कर्मियों के प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन अलर्ट मोड में है. डीएम और एसएसपी ने मोर्चा संभाल लिया है. आज दोपहर दोनों अधिकारियों ने पीवीवीएनएल के एमडी से मुलाकात कर तैयारियों का जायजा लिया और सभी प्रकार के समस्याओं से निपटने की बात कही. इसके अलावा डीएम व एसएसपी ने शहर के सभी बिजली घरों का दौरा कर वहां के स्थिति के बारे में जानकारी ली.
  •  पवनपुर में पशु तस्करों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गई. बताया जा रहा है कि कार सवार कुछ तस्करों ने पुलिस को देख भागने का प्रयास किया. लेकिन वे सफल नहीं रहे और उनकी कार एक दुकान से टकराकर पलट गई. पुलिस ने तीन तस्करों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं एक फरार बताया जा रहा है. 
  •  लिसाड़ी गेट के आशियाना कॉलोनी में सपा नेता गुलशेर राणा के घर पर कार सवार बदमाशों ने फायरिंग कर दी. फायरिंग का कारण परिवारिक झगड़ा बताया जा रहा है. सपा नेता ने बताया कि जब वह बाजार से घर जा रहे थे तभी कार सवार कुछ बदमाशों ने उन पर फायरिंग कर दिया. किसी प्रकार घर में घुसकर उन्होंने अपनी जान बचाई. वहीं लिसाड़ी गेट थाने की पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच में जुट गई है.
  •  खेतों में पराली जलाने वालों की अब खैर नहीं. खेतों में पराली न जलाने व प्रदूषण रोकने के लिए अब लेखपालों के साथ-साथ कृषि विभाग के अधिकारी भी पराली जलाने वालों पर कड़ी निगरानी रखेंगे. वाहर गांव के लेखपालों व ग्रामीणदारों को एक व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से जोड़ा जा रहा है, जिसमें पराली जलाने की सूचना दी जाएगी. सूचना पर फौरन अधिकारी वहां पहुंचकर पराली जलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करेंगे.
  •  चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय ने पहली मेरिट लिस्ट में जारी छात्रों के प्रवेश पर अगले आदेश तक रोक लगा दिया है. आरोप है कि कुछ छात्रों के प्राप्तांक पूर्णांक से भी अधिक हैं, जिसके बाद यह निर्णय लिया गया. पुनः विश्वविद्यालय द्वारा नई लिस्ट जारी की जाएगी. जो छात्र एडमिशन ले चुके हैं, उन पर इसका प्रभाव नहीं होगा. ज्ञात हो कि प्रवेश की अंतिम तारीख 9 अक्टूबर थी, लेकिन अब इसका बढ़ना तय है.

सम्बंधित वीडियो गैलरी