मेरठ में सिर्फ 2.67 फीसदी हरियाली जबकि 33 फीसदी है मानक, पानी की गुणवत्ता खराब

Smart News Team, Last updated: 06/06/2021 05:14 PM IST
  • मेरठ मंडल में पर्यावरण की अनदेखी और प्रदूषण अधिक होने के चलते हरियाली, हवा और पानी के आंकड़े डराते हैं, लेकिन सच्चाई यही है कि आंकड़े बेहद चिंताजनक हैं. यहां ना तो साफ हवा है और ना ही शुद्ध पानी. हरियाली भी अब नाममात्र की बची है।  मेरठ में मात्र 2.67 फीसदी हरियाली है, जबकि मानक के अनुसार कुल भौगोलिक क्षेत्र के 33 फीसदी हिस्से में हरियाली होनी चाहिए. मेरठ में घने वन हैं ही नहीं और पानी की गुणवत्ता बेहद खराब है. 

सम्बंधित वीडियो गैलरी