कुंज बिहारी और अफगानिस्तान के रफीक अहमद कंधारी की अनूठी दोस्ती याद करते हैं लोग

Smart News Team, Last updated: 02/08/2021 11:59 PM IST
  • कुछ दोस्ती के किस्से मिसाल बन जाते हैं ऐसा ही मकबरा मेरठ में है जो दोस्ती की सबसे अलहिदा मिसाल पेश करता है। दोस्ती जिसे ना तो सरहद बांट सकी और ना ही धर्म की दीवार कमजोर कर सकी. सैंकड़ो साल बाद भी मेरठ के कुंज बिहारी और रफीक अहमद कंधारी की दोस्ती की किस्से लोगों की जुबान पर चढ़े हुए हैं. इन्होंने जिंदा रहते ही नहीं मौत के बाद भी अपनी दोस्ती निभाई.

सम्बंधित वीडियो गैलरी