खूब बजी शहनाई लेकिन बारातियों ने बनाई दूरी, किसान आंदोलन को लेकर मेरठ में हलचल

Smart News Team, Last updated: 26/11/2020 08:41 PM IST
  • बंदिशों के बीच शहर में शहनाई तो खूब बजी लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते हालात बदले बदले नजर आए. पहले यहां देर रात तक बैंड बाजों का धमाल होता था. वहीं इस बार तमाम पाबंदियों और पुलिस के पहरे में शादी समारोह संपन्न हुए. कोविड गाइडलाइन के तहत सरकार ने 100 मेहमानों की उपस्थिति की शर्त लगा दी थी. जिसका व्यापक असर देखने को मिला. शादी में आमंत्रित किए गए 100 में से 50 मेहमान भी नहीं पहुंचे. शाम ढलते ही समारोह में पुलिस पहुंच गई. वर वधू पुलिस पंडित बैंड बाजे वालों तक के मुंह पर मास्कर नजर आए. गेट पर ही सभी को सेनेटाइज किया गया. बारात की हर गतिविधि सीसीटीवी कैमरे में कैद की गई. वहीं पार्क और गलियों में भी टैंट लगाकर शादी समारोह हुए हालांकि यहां सोशल डिस्टेंसिंग के दावे हवा होते नजर आए. अचानक पुलिस पहुंचती और भगदड़ मच जाती और मुंह पर मास्क चढ़ जाता. वहीं विवाह समारोह से विदाई पर मिठाई और उपहार देने की परंपरा नदारद रही. 
  • बीते 24 घंटे में चार कोरोना मरीजों की मौत हो गई. 260 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. फिलहाल जिले में एक्टिव केस की संख्या 1939 तक पहुंच गई है. डीएम के बालाजी ने कोविड नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है. उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लोगों का सहयोग जरूरी है. अनावश्यक रूप से घर से बाहर ना निकलें. हाई रिस्क के लोग घर से बाहर ना निकलें. गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर उन्होंने सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है. शासन ने मेरठ में कोरोना की मैपिंग कराने का निर्णय लिया है. कोरोना का एक मरीज मिलने पर 50 मीटर और एक से ज्यादा मरीज मिलने पर 100 मीटर से ज्यादा का एरिया सील कर दिया जाएगा. फिलहाल डीएम ने आश्वस्त किया है कि जिले में कोरोना की चेन को आगे नहीं बढ़ने देंगे और इसके लिए हर संभव उपाय किए जाएंगे. 
  • दिल्ली की ओर किसानों के कूच को देखते हुए मेरठ में भी हलचल बढ़ी हुई है. सीमा पर निगरानी बढ़ गई है और प्रशासन अलर्ट मोड पर है. वहीं भारतीय किसान यूनियन के उत्तर प्रदेश और मेरठ मंडल के सभी कार्यकर्ताओं को दिल्ली कूच करने के लिए तैयार रहने को कहा गया है. भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने प्रदेश अध्यक्ष के आदेश का इंतजार करने को कहा है. फिलहाल मुजफ्फर नगर में बैठक बुलाई गई है. इसमें कभी भी आगे की रणनीति पर फैसला लिया जा सकता है. 
  • रोडवेज बसों में आज सुबह से ही मारामारी की स्थिति बनी हुई है. बसों की कम संख्या, स्टाफ की छुट्टी और शादी समारोहों से लौट रहे यात्रियों की भीड़ के चलते लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. रोडवेज अधिकारियों ने बताया कि कई ड्राइवर और कंडक्टर छुट्टी पर हैं, इसके चलते बसों की संख्या कम हो गई. कई बसें फंसी रहीं और समय से मेरठ नहीं पहुंच सकीं. 
  • बीते तीन दिनों से धूप नहीं निकलने के चलते बढ़ी ठंड से लोगों को आज हलकी राहत मिली. सुबह से ही मौसम साफ रहा और दिनभर गुणगुणी धूप खिली. हवा शांत रहने और धूप निकलने से सर्दी शांत रही. दिन के तापमान में भी व्यापक बढ़ोतरी दर्ज हुई है. हालांकि ठंड से मिली ये राहत ज्यादा लंबी नहीं चलने वाली है. कल से एक बार फिर से शीत लहर की दस्तक होगी. दिन के तापमान में लगातार गिरावट आएगी और ठंड बढ़ेगी.

सम्बंधित वीडियो गैलरी