मुजफ्फरपुर में कोरोना का कहर, 24 घंटे में रेवाघाट पर 50 शवों का अंतिम संस्कार

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 4:29 PM IST
  • सरैया प्रखंड के रेवाघाट स्थित नारायणी नदी के तट पर दाह संस्कार को लेकर शवों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है. सोमवार की शाम से मंगलवार की शाम तक 24 घंटे में 50 शव रेवाघाट पर अंतिम संस्कार के लिए लाया गया. स्थानीय लोगों ने बताया कि इन दिनों काफी संख्या में रेवाघाट में शव का दाह संस्कार होने से घाट पर गंदगी का अंबार लगा है.
रेवाघाट स्थित नारायणी नदी के तट पर बीते 24 घंटे में 50 शवों का अंतिम संस्कार किया गया.

मुजफ्फरपुर- बिहार में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का कहर जारी है. कोरोना संक्रमण से होनी वाली मौतों में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. इस बीच जिले के सरैया प्रखंड के रेवाघाट स्थित नारायणी नदी के तट पर दाह संस्कार को लेकर शवों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है. आंकड़ों के मुताबिक, बीते एक पखवाड़े से शवों के दाह संस्कार की संख्या में पांच गुना से अधिक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

रेवाघाट के डोम राजा विनोद मल्लिक के मुताबिक, सोमवार की शाम से मंगलवार की शाम तक 24 घंटे में 50 शव रेवाघाट पर अंतिम संस्कार के लिए लाया गया. उन्होंने बताया कि उनमें कुछ शव प्लास्टिक में भी लपेटा हुआ था. स्थानीय लोगों ने बताया कि इन दिनों काफी संख्या में रेवाघाट में शव का दाह संस्कार होने से घाट पर गंदगी का अंबार लगा है.

मुजफ्फरपुर: आज से मास्क न पहनने वालों पर दर्ज होगा एफआईआर, SSP का सख़्त निर्देश

मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार को सरैया प्रखंड के उत्तरी क्षेत्र के एक गांव में एक अधेड़ की कोरोना से मौत हो गई. सोमवार की पूरी रात शव घर में पड़ा रहा. जिसके बाद मंगलवार की सुबह शव वाहन और जेसीबी के साथ बीडीओ डॉ. भृगुनाथ सिंह पहुंचे और दाह-संस्कार की तैयारी शुरू कराई. साथ ही बीडीओ, किशोर कुणाल व मृतक के पुत्र ने पीपीई किट पहन विधायक अशोक कुमार सिंह के साथ शव को कंधा दिया. इसके बाद दाह-संस्कार किया गया.

BPSC APO भर्ती की मुख्य परीक्षा के लिए आज से आवेदन शुरू, ऐसे भरें एप्लीकेशन

सरकारी अस्पतालों में हाथों-हाथ नौकरी पाने का सुनहरा मौका, वॉक इन इंटरव्यू शुरू

मुजफ्फरपुर के अस्पताल में रेमडेसिविर की कालाबाजारी, केस दर्ज करने का निर्देश

मुजफ्फरपुर में 300 रुपए में ऑक्सीजन और 1299 रुपए में रेमडेसिविर, जानें कैसे

मुजफ्फरपुर: आंधी, ओले और बारिश से बड़ा नुकसान, कई जगह फसल खराब, बिजली गायब

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें