एटीएम फ्रॉड का हुआ खुलासा, मदद के बहाने लेते थे कार्ड और क्लोन करके लूट

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 07:08 PM IST
मुजफ्फरपुर के ओपी क्षेत्र से पुलिस ने एटीएम फ्रॉड गैंग के पांच शातिर बदमाशों को पकड़ा. ये बदमाश मदद करने के बहाने एटीएम का क्लोन बना लेते थे और फिर पूरा पैसा उड़ा लेते थे.
मुजफ्फरपुर में पुलिस ने एटीएम फ्राॅड गैंग के 5 सदस्यों को अरेस्ट किया.

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर में एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर लोगों के खाते से पैसे निकालने वाले गैंग के पांच सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस को इनके पास से तीन कट्टा, चार कारतूस ,18 एटीएम कॉर्ड, एक क्लोनिंग मशीन, 7 बाइक, 5 मोबाइल, 20 पुड़िया स्मैक और 3 लाख 40 हजार कैश बरामद किया. इन पांचों शातिरों का संबंध एटीएम फ्रॉड गैंग के सरगना पंकज साहनी से बताया जा रहा है.

आपको बता दें कि पुलिस की विशेष टीम ने मीनापुर थाने के पानापुर ओपी क्षेत्र से इन शातिर बदमाशों को पकड़ा है. पकड़े गए अपराधियों की पहचान बड़ा भाती गांव के विशाल कुमार, दीपक कुमार, हीरालाल साहनी, शेखर कुमार और बनघरा निवासी आयुष कुमार के रूप में की गई है.

मुजफ्फरपुर: दो लड़कियों का शव मिलने से सनसनी, 3 दिन से लापता थीं इंटर छात्राएं

इस गिरफ्तारी के संबंध में सिटी एसपी राजेश कुमार ने कहा कि पुलिस को पानापुर ओपी क्षेत्र में एटीएम फ्रॉड गिरोह के शातिरों के होने की सूचना मिली थी. जिसके बाद ओपी प्रभारी अरिवंद पासवान और विशेष पुलिस टीम ने छापेमारी में शातिर गैंग का खुलासा किया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने इन शातिरों को ओपी क्षेत्र के एटीएम के पास से अरेस्ट किया. इसमें से विशाल और दीपक पहले आर्म्स एक्ट में जेल जा चुके हैं.

अक्टूबर में 6 के बदले 9 दिन बैंक बंद, छुट्टी तारीखों से पहले निपटा लें लेन-देन

आपको बता दें कि ये शातिर गैंग एटीएम से पैसे निकालने पहुंचे अनपढ़, महिला, बुजुर्ग और बच्चों को अपना शिकार बनाते थे. ये बदमाश उनकी मदद के बहाने एटीएम स्वैप कर लेते थे और फिर उसका क्लोन तैयार करके ब्लैक कॉर्ड में सारा डाटा ले लेते थे. जिसके बाद वे ग्राहकों के अकाउंट से सारे पैसे उड़ा लेते थे.

सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- कुछ लोग भय और भ्रम का बना रहे माहौल

कहा जा रहा है कि इन पांचों शातिरों का संबंध एटीएम फ्रॉड गैंग के सरगना पंकज साहनी से है. पंकज साहनी को पुलिस काफी समय से पकड़ने की कोशिश कर रही है लेकिन अभी तक वो पुलिस के हत्थे नहीं आया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें