नदी के रास्ते नाव से शराब तस्करी से चौंकी पुलिस, मुजफ्फरपुर में बोट से चौकसी

Smart News Team, Last updated: 23/09/2020 08:04 PM IST
बिहार में नदी के रास्ते से शराब की सप्लाई की जा रही है. संबंध में संबंधित विभाग के निर्देश के बाद एसएसपी ने सभी थानेदारों को नदियों की नाव से निगरानी के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही उन्हें 2 दिन के अंदर काम की रिपोर्ट भी भेजने होगी.
मुजफ्फरपुर में नदी के रास्ते से शराब की सप्लाई की जा रही है.

मुजफ्फरपुर. बिहार में शराब बेचने वाले पुलिस और उत्पाद विभाग को चकमा देने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे हैं. इन लोगों के द्वारा नदी के जरिए भी शराब की सप्लाई जा रही है. विभाग ने इसे गंभीरता से लिया है. इसे रोकने के लिए मद्य निषेध उत्पाद और निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव ने सभी एसएसपी को निर्देश दिया है.

आपको बता दें कि पुलिस की नजरों से बचने के लिए शराब धंधेबाज कभी ट्रैक्टर में तहखाना बनाकर शराब की सप्लाई कर रहे हैं तो कभी दूध के केन में शराब की सप्लाई की जा रही है. इसके बाद विभाग के मुख्य सचिव द्वारा सभी एसएसपी को निर्देशित किया गया है.

मुजफ्फरपुरः लूट केस में मीनापुर के RJD विधायक मुन्ना यादव कोर्ट में सरेंडर, बेल पर छूटे

इस निर्देश कर बाद एसपी जयंत कांत ने सभी थानेदारों को आदेश दिया है कि वे अपने क्षेत्र में आने वाली नदियों की नाव से निगरानी करें इसके लिए थानेदार निजी नाव को भाड़े में लेकर रात में निगरानी करें. साथ ही उन्होंने 2 दिनों के अंदर की गई कार्रवाई से संबंधित रिपोर्ट भी मांगी है. उन्होंने थानेदारों को नदियों का जिक्र सहित अन्य बिंदुओं पर काम कर रिपोर्ट भेजने के लिए कहा है. मुख्यालय के निर्देश के बाद पुलिस महकमा रिपोर्ट तैयार करने में जुट गया है.

मुजफ्फरपुर फर्जी डकैती-अपहरण कांड में लोगों के खिलाफ FIR पर वकीलों ने उठाए सवाल

आपको बता दें कि बूढ़ी गंडक नदी में देसी शराब बनाने का धंधा खूब फल-फूल रहा है. पहले भी कई बार स्थानीय थाने की पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर चुकी है. पुलिस द्वारा सैकड़ों लीटर देसी शराब नष्ट की जा चुकी है. यहां तक की शराब धंधेबाजों के अड्डों को भी ध्वस्त किया जा चुका है. लेकिन पुलिस की कार्रवाई के कुछ दिनों के बाद ही वहां फिर से शराब बनाने का धंधा शुरू हो जाता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें