पुरुषों की अब है बारी, परिवार नियोजन में भागीदारी के साथ बिहार में 15 नवंबर से नसबंदी अभियान

Haimendra Singh, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 12:44 PM IST
  • जनसख्या नियंत्रण को लेकर बिहार के स्वास्थ्य विभाग ने 15 नवंबर से मुजफ्फरपुर में पुरुष नसबंदी पखवारा की शुरुआत करने का फैसला किया है. यह कार्यक्रम 5 दिसंबर तक चलेगा.
परिवार नियोजन को लेकर 15 नवंबर से बिहार में शुरू होगा पुरुष नसबंदी अभियान.( सांकेतिक फोटो )

मुजफ्फरपुर. परिवार नियोजन में महिलाओं की भागीदारी मानी जाती है, लेकिन अब इसके लिए पुरुषों को भी प्रेरित किया जाएगा. जनसंख्या नियंत्रण को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने पुरुष नसबंदी पखवारा का आयोजन करने का फैसला किया है. स्वास्थ्य विभाग 15 नवंबर से 5 दिसंबर तक पखवारा का आयोजन करेगा. पखवाड़े में पीएचसी पर शिविर कैम्प लगाकर पुरुषों को जनसख्या नियंत्रण के लिए जागरूक करना और नसबंदी के लिए प्रेरित किया जाएगा. मिली जानकारी के अनुसार, सदर अस्पताल में नियमित रुप से ऑपरेशन की व्यवस्था की जाएगी.

जनसख्या नियंत्रण को लेकर सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा ने बताया, हमेशा से जनसख्या के लिए महिलाओं ने सहभागिता दिखाई है. अब पुरुषों को भी जनसख्या नियंत्रण करने के लिए सहभागिता देखाने की जरूरी होगी. 15 नवंबर से शुरू हो रहे पखवाड़े की थीम है, ‘पुरुषों की अब है बारी, परिवार नियोजन में भागीदारी’ स्वास्थ्य विभाग के जागरुकता अभियान से उम्मीद जताई जा रही है कि जनसख्या नियंत्रण करने में मदद मिलेगी.

पंचायत की सरकार अब बेटियों के हाथ, कॉलेज, घर और गांव को ऐसे संभाल रहीं साथ

पुरुष नसबंदी के शिविर लगेंगे

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, पुरुष नसबंदी पखवारा के तहत जिले के मेडिकल कॉलेज, अस्पताल के साथ जिला अस्पताल और फस्ट रेफरल यूनिट पर भी नसबंदी शिविर का आयोजन किया जायेगा. स्वास्थ्य विभाग ने अपने कर्मचारियों से अपील की है कि लोगों को परिवार नियोजन के लिए जागरूक करे. स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि जो पुरुष नसबंदी कर आएंगे उन्हें सरकार की ओर से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. साथ ही नवविवाहिताओं जोड़ों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक किया जाएगा ताकि वह अपने संतान के बीच का अंतर रख सकें. घर-घर जाकर पुरुष को नसबंदी पखवारा में शामिल करने का प्रयास किया जाएंगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें