बिहार में कोरोना थामने के अजब तरीके, इस गांव में पूजा, हवन से ऐसे भगा रहे वायरस

Smart News Team, Last updated: Sun, 23rd May 2021, 8:05 PM IST
  • कोरोना से बचाव के लिए सरकार और प्रशासन लगातार काम कर रही है. देश के अधिकतर राज्यों और जिलों में लॉकडाउन की स्थिति है. प्रशासन लागतार जागरूकता अभियान चला रही है. लेकिन इसके बावजूद ग्रामीण इलाकों में लोग कोरोना से बचने के लिए झाड़ फूंक जैसे अंधविश्वासों का सहारा लें रहें हैं. वे इसे एक देवीय प्रकोप मानकर और कोरोना देवी की मूर्ती बना उसकी पूजा रहें.
कोरोना वायरस को भागने के लिए हवन (फाइल फ़ोटो)

मुजफ्फरपुर: कोरोना, जो लगभग अब पूरे देश में अपना पैर पसार चूका है. शहरों से लेकर अब गांवों तक कोविड 19 महामारी ने तबाही मचा रही है. कोरोना से बचाव के लिए सरकार और प्रशासन लगातार काम कर रही है. देश के अधिकतर राज्यों और जिलों में लॉकडाउन की स्थिति है. प्रशासन लागतार जागरूकता अभियान चला रही है.लेकिन इसके बावजूद ग्रामीण इलाकों में लोग कोरोना से बचने के लिए झाड़ फूंक जैसे अंधविश्वासों का सहारा लें रहें हैं. वे इसे एक देवीय प्रकोप मानकर और कोरोना देवी की मूर्ती बना उसकी पूजा रहें.

यही हाल है मुजफ्फरपुर के गायघाट प्रखंड क्षेत्र का. जिले के लगभग सभी गांव कोरोना की चपेट में है. हर रोज कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या बढ़ती जा रही है. जिसके लिए जिले में कोरोना से मुक्ति के लिए विभिन्न इलाकों में देवी देवताओं की पूजा की जा रही है. जिसके दौरान ना लोग सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रख रहे हैं ना उनके मुंह पर मास्क ही है. वहां के लोग बता रहें हैं कि कोरोना को भगाने के लिए हवन किया गया है. जिससे अब वहां कोरोना नही आ सकता. सभी ग्रामीणवासी एक जगह जमा हो कर लोग और गांवों के लिए मन्नत मांग रहें हैं.

केंद्र से निर्देश के बाद बिहार में भी महामारी घोषित हुई खतरनाक ब्लैक फंगस बीमारी

लोग कोरोना को दूर भगाने के लिए ओझा और गुणी को बुला कर सब एक साथ भीड़ में पूजा कर रहें हैं. वहीं कटरा प्रखंड के चंगेल गांव में लोग कोरोना को भगाने के लिए लगातार झाड़ फूंक करवा रहें हैं. वहीं एक ग्रामीण बताते हैं कि गांव में तेजी से कोरोना फैल रहा और यहां की स्वास्थय व्यवस्था ठीक नही है. ऐसे में कोरोना झाड़ फूंक से ठीक हो सकता है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें