बिहार पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस की तैयारियां तेज, 9 चरणों में होने की संभावना

Smart News Team, Last updated: Wed, 17th Feb 2021, 7:38 AM IST
  • बिहार पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. पुलिस मुख्यालय की तरफ से संभावना जताई गई है कि पंचायत चुनाव नौ चरणों में कराए जा सकते हैं और उसी को देखते हुए सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए जाएंगे.
बिहार में नौ चरणों में हो सकता है पंचायत चुनाव. 

मुजफ्फरपुर. बिहार पंचायत चुनाव को लेकर अभी राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से घोषणा नहीं की गई है लेकिन पुलिस मुख्यालय ने पंचायत चुनाव नौ चरणों में होने की संभावना के साथ अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. पुलिस मुख्यालय के अनुसार बिहार में पंचायत चुनाव नौ चरणों में कराए जा सकते हैं और उसी को देखते हुए सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए जाने हैं. सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए जिलों से सुरक्षा बलों की आवश्यकता से जुड़ी रिपोर्ट मांगी गई है.

पंचायत चुनाव कराने को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने गृह विभाग से बल की मांग की तो गृह विभाग ने आवश्यकता का आकलन करते हुए प्रस्ताव की मांग की है. वहीं राज्य निर्वाचन आयोग ने भी जिलों से कई प्वाइंट्स पर रिपोर्ट मांगी है. 

नशे में मिला पुलिसकर्मी तो जाएगी नौकरी के आदेश पर विपक्ष ने CM नीतीश को घेरा

राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है जिसमें उनके प्रखंडवार में मतदाताओं की संख्या और मतदान भवनों की संख्या का लेखाजोखा होगा. वहीं पंचायत चुनाव के लिए बनाए जाने वाले वज्रगृह मतगणना केंद्र के अलावा सुरक्षित ईवीएम की संख्या और कलस्टर सेंटर की संख्या की जानकारी मांगी गई है. 

बिहार में कोरोना जांच फर्जीवाड़े के बाद क्वारंटाइन सेंटर स्कैम, जांच जारी

पंचायत चुनाव के लिए पुलिस मुख्यालय ने राज्य निर्वाचन आयोग से कहा है कि इलेक्शन में ड्यूटी पर रहने वाले होमगार्ड्स को उनके गृह प्रखंड में तैनात नहीं किया जाएगा. इसी के साथ नक्सल प्रभावित इलाकों में मतदान केंद्रों पर 1 से 8 और सामान्य वोटिंग सेंटर्स पर 1 से 3 का सशस्त्र बल तैनात किया जाएगा. 

जदयू प्रभारियों से बोले JDU अध्यक्ष आरसीपी सिंह-विपक्ष के दुष्प्रचार का दें जवाब 

वहीं वोटिंग के दिन नक्सल प्रभावित इलाकों के थानों में अलग से सशस्त्र बल की तैनाती होगी. ईवीएम कोषांग और वज्रगृह की सुरक्षा के लिए अलग से बल की तैनाती भी की जाएगी. पुलिस मुख्यालय के अनुसार कि अगर नौ चरणों में चुनाव होते हैं तो इन जरूरतों के हिसाब से ही फोर्स का आंकलन किया जाएगा. 

बिहार में हाइवे किनारे बनेंगे बाजार, रेस्टोरेंट समेत खुलेंगी कई तरह की दुकान 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें