मुजफ्फरपुर: पशु बलि रोकने गई पुलिस पर जानलेवा हमला, थानेदार समेत पांच घायल

Smart News Team, Last updated: Sat, 21st Aug 2021, 4:22 PM IST
  • मुजफ्फरपुर के रामलीला गाछी में पशु मेले का आयोजन किया गया. मेले की आड़ में पशु बलि की सूचना पुलिस को मिली थी. पशु बलि को रोकने पहुंची देवरिया थाने की पुलिस पर लोगों ने लाठी-डंडों से हमला करना शुरू कर दिया.
मुजफ्फरपुर: पशु बलि रोकने गई पुलिस पर जानलेवा हमला, थानेदार समेत पांच घायल

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के रामलीला गाछी में पशु मेले का आयोजन किया गया है. मेले की आड़ में पशु बलि की सूचना पुलिस को मिली थी. पशु बलि को रोकने पहुंची देवरिया थाने की पुलिस पर लोगों ने लाठी-डंडों से हमला करना शुरू कर दिया. मौजूद लोगों ने पुलिस पर रोड़ेबाजी भी की है.

हमले में देवरिया थानेदार सहित पांच पुलिस वाले घायल बताए जा रहे हैं. पुलिस ने हवा में फायरिंग कर अपनी जान बचाई और मुख्यालय से गई पुलिस टीम ने लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ा. हालांकि पुलिस ने अभी तक फायरिंग की पुष्टी नहीं की है. रामलीला गाछी में अभी भी तनाव बरकरार है. पुलिस लगातार कैंप कर रही है. मिली सूचना के अनुसार पुलिस पर हुए हमले के मामले में पुलिस ने तीन उपद्रवियों को हिरासत में लिया है.

बाइक चोरी में बंद आरोपी की पत्नी ने पुलिस वाले पर लगाया अश्लील हरकत का आरोप, बोली...

पुलिस के अनुसार स्थिति नियंत्रण में है

एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि स्थिति पूरी तरह से पुलिस के नियंत्रण में है. उन्होंने बताया कि पुलिस पर हमला करने वालों को चिन्हित कर लिया गया है. चिन्हित उपद्रवियों पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है. मेले में पुलिस पर हुए हमले की सूचना पर डीएम प्रणव कुमार, एसएसपी जयंतकांत, एसडीओ डॉ. एके दास, पारु इंस्पेक्टर दिगंबर कुमार के साथ देवरिया थाने के आसपास की सभी थाने की पुलिस मौके पर पहुंच कर मामले को शांत करवाया था. पुलिस ने रामलीला गाछी के इलाकों में लगातार फ्लैग मार्च कर रही है.

आपको बता दें रामलीला बाजार पर ताजिया जुलूस और मेला में पशु बलि के आयोजन को लेकर पहले से ही तनाव था. इसी मामले को लेकर गुरुवार को एसएसपी जयंतकांत और एसडीओ पश्चिमी डॉ. एके दास ने आयोजकों को समझाया था. लोगों के साथ शांति समिति की बैठक भी की थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें