शराबबंदी के बावजूद बिहार में जहरीली शराब का कहर, 7 महीने में 30 लोगों की मौत

Swati Gautam, Last updated: Sat, 30th Oct 2021, 8:12 PM IST
  • बिहार में शराबबंदी होने के बावजूद जहरीली शराब पीने से पिछले 7 महीने में 30 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं मुजफ्फरपुर जिले में जहरीली शराब का पीने के कारण शनिवार तक कुल आठ लोगों की मौत हो गई. आए दिन राज्य में जहरीली शराब और शराब तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं.
शराबबंदी के बावजूद बिहार में जहरीली शराब का कहर, 7 महीने में 30 लोगों की मौत. file photo

मुजफ्फरपुर. बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी के चलते राज्य में कड़े कानून बनाए हुए हैं. इसके बावजूद जहरीली शराब और शराब की तस्करी करने के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं. गौरतलब हो कि मुजफ्फरपुर जिले में जहरीली शराब का पीने के कारण शनिवार तक कुल आठ लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में नीतीश सरकार की शराबबंदी की कानून व्यवस्था ध्वस्त होती नजर आ रही है. आंकड़े देखे जाए तो बिहार में मार्च 2021 से लेकर अब तक जहरीली शराब पीने से 30 लोगों की मौत हो चुकी है.

जहरीली शराब को लेकर राज्य में पुलिस लगातार छापेमारी भी कर रही है. इस दौरान भारी मात्रा में अवैध शराब को भी बरामद किया गया है. शराबबंदी के बावजूद राज्य में जहरीली शराब बिक रही है जिसके शिकार अभी तक कई लोग जो चुके हैं. इतना ही नहीं इसी साल नवादा शहरी इलाके की बात करें तो होली पर जहरीली शराब पीने से 15 लोगों की मौत हो गई थी. जिसके बाद पुलिस जांच की तो नवादा में तैयार की गयी अवैध रूप से भारी मात्रा में जहरीली शराब बरामद की गई है. राज्य में आज भी कई जगह अवैध शराब और शराब तस्करी का धंधा चल रहा है.

उप चुनाव में सरकार कर रही धन और बाहु बल का उपयोग, लेकिन जीत रही RJD: तेजस्वी

वहीं सीवान जिले के गुठनी थाना क्षेत्र का भी उदाहरण लिया जाए तो जहरीली शराब पीने के कारण इस महीने छह लोगों की मौत हो चुकी है. कहा जाता है कि जहरीली शराब पीने के कारण व्यक्ति की आंखों की रोशनी चली जाती है. जिन लोगों की अभी तक मौत हुए हैं उनके साथ यही समस्या हुई थी. इसके अलावा वैशाली की बात करें तो अक्टूबर के महीने में जहरीली शराब से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. यह आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें