बिहार अनलॉक में इन शर्तों के साथ स्कूल-कॉलेज खोलेगी नीतीश सरकार, फुल डिटेल्स

Smart News Team, Last updated: Wed, 7th Jul 2021, 6:20 PM IST
राज्य सरकार के निर्देश पर अगले हफ्ते से 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्तिथि के साथ स्कूल और कॉलेज खोल दिए जायेंगे. अब ऑड-इवन रोल नंबरों के अनुसार स्कूलों में पढ़ाई होगी. कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा. मास्क न पहनने पर छात्र छात्राओं को 5 रूपये फाइन भी देना होगा.
बिहार अनलॉक में इन शर्तों के साथ स्कूल-कॉलेज खोलेगी नीतीश सरकार

मुजफ्फरपुर. देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मामलों में कमी को देखते हुए बिहार सरकार ने अगले हफ्ते से कॉलेज व स्कूलों को खोलने को तैयारी शुरू कर दी है. बता दें कि कॉलेज और स्कूल 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति के साथ खोले जाएंगे. स्कूलों में 10वीं से ऊपर यानी 11वीं और 12वीं कक्षा के लिए ही स्कूल खोले जायेंगे. जिसके तहत कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा. शिक्षक व कर्मियों के साथ सभी छात्र-छात्राओं को मास्क लगाना अनिवार्य होगा.

बता दें कि कॉलेजों ने मंगलवार को शिक्षकों के साथ बैठक कर रणनीति बनाई. जिसमें यह तय हुआ कि कॉलेज ऑड-इवेन रोल नंबर के अनुसार खुलेंगे. यानी की पहले दिन ऑड रोल नंबर वाले छात्र कॉलेज आएंगे और दूसरे दिन इवेन नंबर वाले छात्र आएंगे. यह नियम हर कॉलेज में और हर विषय में लागू होगा. इससे क्लासों में छात्रों की संख्या कम होगी जिसके चलते दो बेंच छोड़ कर छात्र क्लासरूम में बैठेंगे. इतना ही नहीं पहले दिन छात्रों को मास्क न पहन कर आने पर हिदायत दी जाएगी लेकिन दूसरे दिन से पांच रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

बिहार में 12 जुलाई से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, शिक्षा विभाग ने जारी की गाइडलाइन

बता दें कि अब स्कूलों व कॉलेजों के मेन गेट पर ही सेनिटाइजर की सुविधा होगी. छात्रों को खुद को सेनिटाइज कर के ही अंदर आने की अनुमति दी जाएगी. काफी समय से स्कूल और कॉलेज न खुलने के कारण कक्षाओं की बैंचों पर, विज्ञान व कला संकाय लैब व प्रयोगशालाओं में धूल की सफेद चादर बिछ गई है. सरकार के निर्देश के बाद परिसर और स्कूलों में साफ सफाई और सेनिटाइजेशन का काम शुरू हो गया है. प्राचार्य डॉ. अभय कुमार सिंह ने बताया कि रामेश्वर कॉलेज में भी कॉलेज खोलने को साफ-सफाई शुरू हो गई है. पूरे परिसर को सैनेटाइजेशन काम चल रहा है. कॉलेज में घुसने के साथ छात्रों को सैनेटाइजेशन के बाद प्रवेश मिलेगा।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें