जमीनी विवाद में BJP नेता और भतीजे का मर्डर, अस्पताल में बवाल, आरोपी फरार

Smart News Team, Last updated: Sun, 15th Nov 2020, 9:38 AM IST
मुजफ्फरपुर में 96.80 वर्ग गज जमीन को लेकर दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई. जिसमें एक गुट में शामिल भाजपा नेता और उसके भतीजे की हत्या कर दी गई. पुलिस के मुताबिक घटना के बाद से मुख्य आरोपी फरार है.
(प्रतिकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर: दो डिसमिल जमीन को लकेर उठे विवाद में भाजपा प्रखंड कमेटी के सदस्य और साथ ही उसके भतीजे की हत्या कर दी गई. यह घटना औराई के नायागांव में उस्ती बेसी में हुई. इसके पहले दोनों को इलाज के लिए एसकेएमसीएच ले जाया गया था जहां डॉक्टर ने दोनों को मृत घोषित किया था. लेकिन, इस बात से आहत भाजपा नेता बिरेंद्र गांधी के करीबी लोगों ने अस्पताल में ही बवाल काटना शुरू कर दिया. बताया गया कि भाजपा नेता एक स्कूल का सह निजी संचालक भी है. वहीं, मृतक की पत्नी अनिता भाजपा पंचायत अध्यक्ष है जो बुरी तरह घायल है.

नई सरकार बनने से पहले BJP सांसद ने नीतीश कुमार से की शराबबंदी में ढील की मांग

बता दें कि जब उसी अस्पताल में उपचार के लिए आरोपित पक्ष पहुंचा तो उन्हें देखते ही भाजपा नेता को लेकर आए लोग उनसे भिड़ गए. इसके बाद उन्होंने दूसरे पक्ष को दौड़ा-दौड़ाकर कर पीटा. फिर वो यहीं तक नहीं रुके उन्होंने एंबुलेंस तोड़ने का भी प्रयास किया. इस बात की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में उपचार के लिए आए हत्या में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. इसे देखते हुए दूसरे पक्ष के अन्य लोग भाग गए. फिर पूरे अस्पताल में अफरातफरी का माहौल उत्पन्न हो गया. यह पूरी घटना भवन निर्माण को लेकर हिंसप झड़प के कारण हुई जिसमें कई लोग घायल हुए.

CM नीतीश कुमार ने दीप जलाकर मनाई दीपावली, प्रदेशवासियों को दीं शुभकामनाएं

इस मामले पर एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि जमीन विवाद को लेकर दो लोगों की हत्या कर दी गई है. अब मामले की एक-एक परतों को खोलने के लिए डीएसपी पूर्वी के नेतृत्व में छानबीन की जा रही है. वहीं, आगे बात को विस्तार देते हुए उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी घर छोड़कर जा चुका है. इसके पूर्व एक आरोपी को एसकेएमसीएच से पुलिस ने हिरासत में लिया. उन्होंने आगे बताया कि मामले में अभी किसी का बयान दर्ज नहीं किया गया है.

पटना सर्राफा बाजार में सोना 110 व चांदी में हुई 10 रुपये की बढ़त, आज का मंडी भाव

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें