मुजफ्फरपुर के अस्पताल में रेमडेसिविर की कालाबाजारी, केस दर्ज करने का निर्देश

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th May 2021, 1:43 PM IST
  • निजी अस्पताल मेडिका हॉस्पिटल पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने का आरोप लगा है. महंगे दामों में बेचने के आरोप में अस्पताल पर केस दर्ज करने का निर्देश दिया गया है.
अस्पताल पर केस दर्ज करने का निर्देश

मुजफ्फरपुर: अहियापुर में स्थित निजी अस्पताल मेडिका हॉस्पिटल पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने का आरोप लगा है. सरकार से जरूरत से ज्यादा रेमडेसिविर इंजेक्शन को मंगाने और उसे महंगे दामों में बेचने के आरोप में अस्पताल पर केस दर्ज करने का निर्देश दिया गया है.

सदर अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ एस के चौधरी के मुताबिक मेडिका हॉस्पिटल से एक मरीज का परिजन पर्ची लेकर यहां दवा लेने आया. दवा देने के पहले पर्ची और मरीज के बारे में पूछताछ की गई. जवाब से संतुष्टता न होने पर जांच की गई तो पता चला कि बगैर मरीज़ के ही जरूरत पैदा करके सदर अस्पताल से दवा मंगाई जा रही है.

मुजफ्फरपुर में 4 हजार रैपिड एंटीजन किट बरामद, 5 लोग गिरफ्तार

दरअसल जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन के सरकारी कोटे का वितरण इसी सदर अस्पताल से होता है. मामले के सामने आने के बाद सिविल सर्जन ने अहियापुरथाने में मेडिका हॉस्पिटल के खिलाफ केस दर्ज करने का निर्देश दिया है.

पेट्रोल डीजल 10 मई का रेट: पटना, मुजफ्फरपुर, भागलपुर, पूर्णिया, गया में बढ़े तेल के दाम

आपको बता दें कि सरकार से ये इंजेक्शन 13 सौ रुपए में मिल रहा है, लेकिन ब्लैक मार्केटिंग के ज़रिए यही इंजेक्शन 40 से 60 हजार रुपए तक बेचा जा रहा है. मेडिका अस्पताल में काफी दिनों से मरीजों से अ‌वैध उगाही की शिकायत सामने आ रही थी. इसके अलावा ये भी शिकायत मिल रही थी कि डॉक्टर की कमी होने के बावजूद यहां कोविड पेशेंट को इलाज के लिए भर्ती किया जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें