नौकरी का इंतजार कर रहे BRA विवि के 40 हजार छात्रों के भविष्य पर गहराता संकट

Smart News Team, Last updated: 11/12/2020 10:26 AM IST
  • बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के 40 हजार छात्रों की नौकरी पर संकट बना हुआ है.  विवि ने कोर्स के रेगुलेशन की मंजूरी नहीं मिलने के कारण पिछले पांच सालो में परीक्षा नहीं कराई है.
बीआरए बिहार यूनिवर्सिटी मुजफ्फरपुर ( फाइल फोटो )

मुजफ्फरपुर: बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के 40 हजार छात्र पिछले पांच साल से नौकरी के लिए परीक्षा और रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं, जिसमें बीएड के 1500 छात्र भी शामिल हैं. सभी छात्रों को अब अपनी नौकरी की चिंता सता रही है. बीएड के छात्रों ने परीक्षा और रिजल्ट के लिए विश्वविद्यालय में कई दिनों तक अनशन किया है. छात्रों का आरोप है विश्वविद्यालय की ओर से छात्रों को लिखित में सकारात्मक कार्रवाई का आश्वान मिला था. लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी. विवि की इस लापरवाही की वजह से हजारों का छात्रों के भविष्य पर संकट के बादल मड़रा रहे है.

जानकारी के अनुसार, कोर्स के रेगुलेशन की मंजूरी नहीं मिलने के कारण पिछले पांच सालो में परीक्षा नहीं हो सकी. छात्रों को लिखित आश्वासन दिया गया था लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी. दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक डॉ लल्लन कुमार ने बताया कि विवि की ओर रेगुलेशन की मंजूरी का प्रस्ताव राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान को भेजा जा चूका है जल्द ही कोई जबाब आने की उम्मीद है. जिसके बाद आगे कि प्रकिया को पूरा किया जाएगा.

बिहार बोर्ड 10-12 वीं के छात्रों के लिए क्रॉसवर्ड प्रतियोगता का करेगा आयोजन

बता दें कि बीएड के अलावा स्नातक, पीजी और प्रोफेशनल कोर्स के छात्रों की बीते पांच बर्षों से परीक्षा रुकी हुई है. छात्र नौकरियों की तैयारी कर रहे है. विवि की ओर से अभी तक परीक्षा न कराये जाने को चितिंत है. बीएड के अधिकांश छात्र स्कूलों में नियमित रुप से कार्य कर रहे है. शिक्षा विभाग ने बीएड के रिजल्ट के लिए छात्रों को थोड़ी राहत दी है.

पटना: IMA डॉक्टरों ने निकाला आक्रोश मार्च, 11 को करेंगे ऑल इंडिया स्ट्राइक

बिहार के कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रहा इमरान हाशमी और सनी लियोनी का बेटा!

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें