MIT मुजफ्फरपुर में एमटेक का दायरा बढ़ा, अब सिविल ब्रांच से छात्र कर सकेंगे पढ़ाई

Smart News Team, Last updated: Mon, 17th May 2021, 4:35 PM IST
मुजफ्फरपुर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में सिविल ब्रांच के स्टूडेंट भी एमटेक के कोर्स में पढ़ाई कर सकेंगे. इसके लिए एमआईटी मुजफ्फरपुर को नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रीडिएशन की तरफ से मान्यता मिल चुकी है. 
एमआईटी मुजफ्फरपुर में सिविल ब्रांच के बच्चे भी एमटेक की पढ़ाई कर सकेंगे. (प्रतीकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर: सिविल ब्रांच से एमटेक करने वाले स्टूडेंट के लिए एक अच्छी ख़बर है. बिहार के मुजफ्फरपुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कॉलेज को नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रीडिएशन (एनबीए)  की तरफ से अपने कॉलेज में सिविल ब्रांच के स्टूडेंट को एमटेक में पढ़ाने का मान्यता मिल गया है. एमआईटी कॉलेज बिहार का दूसरा कॉलेज है जो एमटेक में सिविल ब्रांच की पढ़ाई करवाएगा. इससे पहले केवल बिहार एनआईटी के पास ही सिविल ब्रांच को ही एनबीए से मान्यता मिला है. एनबीए ने 1 सप्ताह पहले ही एमआईटी मुजफ्फरपुर को एक मेल करके बीटेक के सिविल विभाग को इस बात की जानकारी दी थी. 

एनबीए सत्र 2021–22 और 2022–2023 के लिए यह मान्यता सिविल ब्रांच को दी है. फिलहाल मुजफ्फरपुर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में अभी थर्मल इंजीनियरिंग और मशीन लर्निंग जैसे विषयों में छात्रों को एमटेक की डिग्री दी जाती है. एमआईटी कॉलेज में एमटेक के अन्य कोर्स जैसे ट्रांसपोर्टेशन इंजीनियरिंग और जियो टेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग में एमटेक कराने के लिए प्रस्ताव तैयार करके डीएसटी और एआईसीटीई को भेजेगा.

बिहार में 30 मई तक महज 4 घंटे खुलेंगे बैंक, केवल 50 प्रतिशत स्टाफ रहेगा मौजूद

 इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी अप्रैल माह में केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की तरफ से क्वालिटी एजुकेशन के लिए हुए थर्ड पार्टी ऑडिट में बिहार में पहले नंबर पर आया था. साथ ही पूरे देश में एनआईटी मुजफ्फरपुर छठे नंबर पर था. एनआईटी मुजफ्फरपुर बिहार के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज में आता है क्योंकि वहां पर छात्रों के लिए लैब शैक्षणिक वातावरण कैंपस सिलेक्शन और उच्च क्वालिटी की शिक्षा मिलता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें