बिहार: क्रैश कोर्स से इंजीनियरिंग- पॉलिटेक्निक के बचे सिलेबस को कराया जाएगा पूरा

Smart News Team, Last updated: Thu, 1st Jul 2021, 11:16 AM IST
  • बिहार में इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक के बचे सिलेबस को क्रैश कोर्स से पूरा कराने की तैयारी राज्य सरकार की है. 15 दिनों का क्रैश कोर्स होगा. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, बिहार सरकार ने सभी कॉलेजों के प्राचार्यों को कोर्स वर्क बनाने का निर्देश दिया है.
क्रैश कोर्स से इंजीनियरिंग- पॉलिटेक्निक के बचे सिलेबस को कराया जाएगा पूरा (फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर. बिहार में इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक के बचे सिलेबस को क्रैश कोर्स से पूरा किया जाएगा. इस संबंध में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, बिहार सरकार ने आदेश जारी कर दिया है. मिली जानकारी के अनुसार 15 दिनों के क्रैश कोर्स में इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक के बचे कोर्स को पूरा कराया जाएगा. सभी कॉलेजों के प्राचार्यों को कोर्स वर्क बनाने का निर्देश दिया गया है.

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने समीक्षा करने के बाद ये आदेश जारी किया है. बताया जा रहा है कि बिहार में 6 जुलाई के बाद स्कूल खुल सकते हैं. दरअसल, कोरोना के चलते तकनीकी कॉलेजों का सत्र बेपटरी हो गया है. 

मुजफ्फरपुर कोरोना थर्ड वेव की तैयारी का दावा, जानें क्या कहती है ग्राउंड रिपोर्ट

कोरोना की पहली लहर के बाद स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही थी, लेकिन दूसरी लहर आने के कारण सभी आकादमिक गतिविधियां फिर बेपटरी हो गई. ऐसे में छात्रों में कोर्स को लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है.

छात्रों के भविष्य को देखते हुए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने कॉलेजों के प्राचार्यों को निर्देश दिया है कि वे 15 दिनों का क्रैश कोर्स तैयार करें, जिसमें पूरा सिलेबस हो जाए. अगर 6 जुलाई को स्कूल खुल जाता है तो स्कूल में ही छात्रों को क्रैश कोर्स की पढ़ाई कराई जाएगी, जिससे छात्रों की तनाव मुक्त वातावरण में पढ़ाई संभव हो सकेगी. 

मुजफ्फरपुर मर्डर: बाइक सवार बदमाशों ने मुखिया के भाई को गोलियों से भूना

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें