रेलवे ट्रैक किनारे 26 घंटे तक पड़ा शव नोचते रहे जानवर, प्रशासन ने नहीं ली सुध

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 12:34 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में एक 19 बर्षीय युवक ने ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर दी. जिसके बाद युवक का शव 26 घण्टों तक रेलवे ट्रेक के किनारे पड़ रहा. लेकिन पड़ा पुलिस प्रशासन ने कोई सुध नहीं ली.
मुजफ्फरपुर में युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

मुजफ्फरपुर: समस्तीपुर रेलखंड पर मिश्रौलिया गांव के पास एक युवक ने ट्रेन आगे कूदकर आत्महत्या कर ली. मृतक युवक स्नातक का छात्र था. आत्महत्या के बाद युवक का शव 26 घण्टो तक ट्रैक के पास पड़ा रहा. जिसको रात भर जंगली जानवर नोचते रहे. अगले दिन पुलिस को शव की सूचना दी गयी. जिसके शाम को मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्डम के लिए भेज दिया. गांव वालों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

युवक की पहचान वैशाली जिला के बलिगांव थाना के लदहो मुशहरी गांव के नीतेश कुमार के रुप में हुए है. पुलिस ने बताया कि नीलेश के परिवार में मां-पिता के साथ छोटी बहन है. पुलिस ने उसकी पहचान फटें हुए पेनकार्ड से की है. नीलेश की आत्महत्या के बाद परिवार के लोगों का रो रोकर बुरा हाल है. चश्मदीदों के अनुसार नीलेश साईकिल से यहां आया था. जिसके बाद उसने साईकिल को ताड़ी की दुकान पर खड़ी करकें रेलवे ट्रैक पर आ रही पवन एक्सप्रेस के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली. जिसके बाद घटना की सूचना पुलिस को दी गई.

कबाड़ दुकान में पुलिस का छापा, मिली 1 हजार बोतलों में होनी थी नकली शराब की रिफिल

सकरा के मुखिया और पूर्व जिला पार्षद ने आरोप लगाया, कि घटना की सूचना गुरुवार की शाम को पुलिस को दी गई. लेकिन पुलिस ने शव को 26 घण्टे तक रैलवे ट्रैक से नहीं हटाया. जिसके कारण जंगली जानकरों ने शव को रात भर नौचते रहें. वहीं पुलिस ने आरोपों को खारिज करते हुआ कहा है कि शुक्रवार को पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ट्रैक पर युवक को शव को पोस्टमार्डम के लिए भेज दिया. वहीं पुलिस ने कहा है कि मुखिया और पूर्व पार्षद ने गुरुवार को कोई सूचना नहीं दी थी.

बिहार में पुलिस छवि सुधारने की तैयारी, आरोप बर्खास्तगी लायक तो तावरित कार्रवाई

दावत में डांस को लेकर भिड़े रिश्तेदार, साले ने जीजा के पेट में घोंपी कांच की बोतल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें