मुजफ्फरपुर : एंटीजन किट की कमी के चलते केवल सदर अस्पताल में होगी कोरोना जांच

Smart News Team, Last updated: Mon, 3rd May 2021, 9:57 AM IST
एंटीजन कीट के कमी के चलते सोमबार को मुजफ्फरपुर जिले के लोग केवल सदर अस्पताल में ही अपना कोरोना जांच करवा सकते हैं. मुजफ्फरपुर जिले के सभी 28 जांच केंद्र एंटीजन किट कमी का सामना कर रहे हैं. मुजफ्फरपुर जिला एंटीजन के साथ दवा और ऑक्सीजन की कमी से भी जूझ रहा है.
कोरोना संक्रमण का जांच सैंपल लेते हुए. (प्रतीकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर : सोमवार को मुजफ्फरपुर जिले के लोगों के संक्रमण की जांच केवल सदर अस्पताल में की जाएगी. मुजफ्फरपुर जिले का स्वास्थ्य विभाग एंटीजन किट की कमी से परेशान है. मुजफ्फरपुर जिले में कुल 22 सरकारी स्वास्थ्य विभाग जांच केंद्र और 3 निजी लैब कोरोना एंटीजन किट जांच कर रहे हैं. फिलहाल सदर अस्पताल को छोड़ सभी जांच केंद्र एंटीजन किट की कमी से जूझ रहे हैं. सिविल सर्जन डॉ एसके चौधरी ने बताया कि पटना से एंटीजन किट की मांग की गई थी पर मांग से कम की आपूर्ति की गई है. अब जो बचे हुए किट है. उससे सदर अस्पताल में संक्रमण की जांच की जा रही है.

हालात इतने खराब हैं कि सिविल सर्जन स्तर के लोगों को भी यह नहीं पता कि सदर अस्पताल के अलावा संक्रमण की जांच किस पीएचसी पर होगा. लोग इस बात से भयभीत हैं कि पहले से ही ऑक्सीजन और दवा की कमी है और अब जांच किट में कमी है. अगर संक्रमित होने पर क्या होगा. जिले के निजी अस्पताल और एसकेएमसीएच के अध्यक्ष कहते हैं कि मरीजों के इलाज के लिए जितनी ऑक्सीजन की आवश्यकता है इतनी ऑक्सीजन नहीं मिल रही है. जिससे मरीजों का इलाज अच्छी तरीके से नहीं कर पा रहे हैं.

बिहार: मई के लिए 16 लाख कोरोना टीकों का कोटा तय, स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

दवा और ऑक्सीजन को लेकर स्थिति इतनी गंभीर है कि किसी भी बड़े अधिकारी के पास ये जवाब तक नहीं है कि दवा ऑक्सीजन जांच की आपूर्ति कब होगी. जांच किट, दवा और ऑक्सीजन की कमी पर सिविल सर्जन स्तर के अधिकारी से पूछने पर वह सहायक औषधि नियंत्रक से बात करने को कहते हैं और जब सहायक औषधि नियंत्रक से कमी के बारे में पूछा जाता है तो ड्रग इंस्पेक्टर से बात करने को कहता है. ड्रग इंस्पेक्टर अपनी मजबूरियों को बता देते हैं. दवा ऑक्सीजन और किट को लेकर कोई भी स्थिति अभी साफ नहीं है. लोग परेशान हैं.

बिहार: पत्रकारों को पहले लगेगा कोरोना का टीका, मिला फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा

बिहार में 1 दिन में 13 हजार से ज्यादा कोरोना केस, राजधानी पटना की हालात खराब

हवा में घुल रहा जहर, अस्पताल की लापरवाही से अब हवा से होंगे कोरोना संक्रमित! जानें कैसे

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें