फेक लूट- किडनैपिंग केस में दीघरा सड़क जाम को लेकर कांग्रेस नेता समेत 54 पर FIR

Smart News Team, Last updated: 21/09/2020 06:47 PM IST
  • दिघरा सड़क जाम मामले में पुलिस ने कई कांग्रेस और जाट नेता सहित कुल 54 लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज की है. फर्जी लूट और अपहरण केस में जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है.
दिघरा कांड में जांच में जुटी पुलिस

मुजफ्फरपुर:  बीते दिनों जिले के दिघरा में हुई कथित डकैती और लूट के मामले में सड़क जाम को लेकर कांग्रेस नेता और जाट नेता समेत 54 लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज हुई है. इसके साथ ही  लगभग सौ अज्ञात के खिलाफ भी एफआईआर की गई है.

गौरतलब है कि रामपुर साह गांव में एक व्यवसायी की बेटी 4 सितंबर को घर से भाग गई थी. जिसके बाद व्यवसायी ने घर में डकैती लूट और बेटी के अपहरण की झूठी कहानी बना कर लोगों को गुमराह किया था. व्यवसायी के सर्मथन में ग्रामीणों ने रास्ता जाम किया था जिसके कारण लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था. जिसके बाद इस मामले में पुलिस ने  दिघरा सड़क जाम मामले में कांग्रेस नेता धर्मवीर शुक्ल और जाप नेता मुक्तेश्वर सिंह समेत 54 नामजद और सौ अज्ञात पर एफआईआर दर्ज हुई है.

दीघरा कांड में जाम, हंगामा और अफवाह फैलाने वालों पर कसेगा शिकंजा, तलाश में पुलिस

इस पूरे मामले की जांच में पुलिस को पिता ने गुमराह किया था. 4 सितंबर को लड़की के अपहरण के बाद एनएच 28 को जाम कर लोगों ने यातायात संबंधी समस्या उत्पन्न कर दी थी. यही नही कई संगठनों ने मिठनपुरा के जुब्बा सहनी पार्क के पास सभा भी की थी. इसके साथ ही लोगों ने जुलूस निकालकर पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया था. जबकि बाद में लड़की के बरामद होने बाद पूरे मामले की सच्चाई पता चली.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें