मुजफ्फरपुर वार्ड नंबर 3 के पार्षद पर जानलेवा हमला, फायरिंग में बाल-बाल बचे

Smart News Team, Last updated: Tue, 24th Aug 2021, 9:16 AM IST
  • सोमवार की दोपहर करीब तीन बजे वार्ड तीन के पार्षद राकेश कुमार पिंटू और उनके मित्र जनरेटर कारोबारी बीरेंद्र गुप्ता पर फायरिंग की गई. हालांकि, दोनों बाल-बाल बचे गए. गोली चलने की आवाज पर स्थानीय लोग मौके पर जुट गए. इसके बाद बदमाश पैदल ही गायघाट पुल से नीचे उतर गए.
गायघाट पुल के पास वार्ड पार्षद और उसके दोस्त पर फायरिंग की गई. (प्रतिकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर. गायघाट पुल के समीप सोमवार की दोपहर करीब तीन बजे वार्ड तीन के पार्षद राकेश कुमार पिंटू और उनके मित्र जनरेटर कारोबारी बीरेंद्र गुप्ता पर फायरिंग की गई. हालांकि, दोनों बाल-बाल बचे गए. गोली चलने की आवाज पर स्थानीय लोग मौके पर जुट गए. इसके बाद बदमाश पैदल ही गायघाट पुल से नीचे उतर गए. इसके बाद राकेश कुमार पिंटू डरे-सहमें मुजफ्फरपुर के ब्रह्मपुरा थाना के लक्ष्मी चौक स्थित आवास पहुंचे। इसे लेकर उन्होंने पटना पुलिस को सूचना नहीं दी. हालांकि, देर शाम ब्रह्मपुरा थानेदार को मौखिक शिकायत की है. लिखित आवेदन नहीं दिया है. नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि मामले को लेकर आवेदन नहीं दिया गया है. आवेदन मिलने पर पुलिस आगे की कानूनी कार्रवाई करेगी.

इधर, राकेश कुमार पिंटू ने बताया कि वे अपने मित्र बीरेंद्र गुप्ता के साथ निजी काम से पटना गए थे. दोपहर में काम निबटाकर मुजफ्फरपुर अपनी कार से लौट रहे थे. इस दौरान दोपहर करीब तीन बजे पटना के गायघाट पुलिस के समीप उनकी कार के बाये साइड का दोनों पहिया में किल धंस गया. इससे दोनों पहिया पंचर हो गया. इस बीच वे कार में बैठे रहे. मित्र बीरेंद्र गुप्ता और चालक पहिया बदलने की प्रक्रिया में जुट गए. इसबीच पटना जीरो माइल की ओर से तीन युवक पतले-दुबले कदकाठी के आये. बीरेंद्र गुप्ता के गले से चेन छिनने लगे। उनके शोर मचाने पर वे कार से बाहर आये. इसपर बदमाशों में से एक ने उनलोगों की ओर एक राउंड फायरिंग कर दी. हालांकि, गोली उनलोगों के सिर के उपर से निकल गया. गोली चलने और उनलोगों के शोर मचाने पर आसपास के लोग भी जुट गए. तब तक तीनों गायघाट पुलिस से पैदल ही नीचे उतर गए. इसके बाद किसी तरह पहिया का पंचर बनवाया और सीधे मुजफ्फरपुर आवास लौट आये.

महिलाओं को मिला रक्षा बंधन का तोहफा, 170 बहनों ने किया राखी स्पेशल बस का सफर

राकेश कुमार पिंटू ने बताया कि उनलोगों पर फायरिंग क्यूं किया या किस उद्देश्य से किया. इसका अनूमान उनको नहीं है. हालांकि उन्होंने आशंका जताया कि चेन छिनतई करने वाले गिरोह के बदमाश होंगे पकड़े जाने के भय से फायरिंग कर दी होगी. उन्होंने बताया कि उन पर फायरिंग के करीब दस मिनट बाद ही गायघाट से पशुपति पारस का काफिला भी गुजरा था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें