बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में 35 हजार सीटों के लिए चौथी मेरिट लिस्ट तैयार

Smart News Team, Last updated: Sat, 2nd Jan 2021, 11:13 AM IST
  • 75 हजार के करीब छात्रों ने दाखिला नहीं लिया है. बची 35000 सीटों को भरने के लिए विश्वविद्यालय की ओर से चौथी मेरिट लिस्ट जारी की जा रही है.
बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में 35 हजार सीटों के लिए चौथी मेरिट लिस्ट तैयार

मुजफ्फरपुर: बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में स्नातक में बची 35 हजार से अधिक सीटों के लिए चौथी मेरिट लिस्ट शनिवार को जारी कर दी जाएगी. तीन मेरिट लिस्ट के साथ अब तक करीब 72000 छात्रों ने नामांकन कराया है. वहीं 75 हजार के करीब छात्रों ने दाखिला नहीं लिया है. बची 35000 सीटों को भरने के लिए विश्वविद्यालय की ओर से चौथी मेरिट लिस्ट जारी की जा रही है. लिस्ट जारी होने के बाद छात्रों को 8 जनवरी तक एडमिशन का मौका दिया जाएगा.

विश्वविद्यालय के यूएमआईएस कोआर्डिनेटर डॉ ललन कुमार झा ने कहा कि मेरिट लिस्ट तैयार कर ली गई है. विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर शनिवार सुबह जारी कर दिया जाएगा. छात्रों को 8 जनवरी तक एडमिशन का मौका दिया जाएगा. इसमें वैसे छात्रों को मौका दिया जा रहा है. जिन्होंने मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद भी एडमिशन नहीं दिया है. इसके अलावा विश्वविद्यालय की ओर से बचे छात्रों को फॉर्म में एडिट का मौका दिया गया था. 

प्रणव कुमार बने मुजफ्फरपुर के नए डीएम, कहा- जाम और जल जमाव से पहले निपटेंगे

जिन विषयों में सीटें कम और छात्रों का आवेदन था. वैसे छात्रों को खाली विषय चुनने का विकल्प दिया गया था. काफी छात्रों ने ऑनर्स का विषय कर अप्लाई किया है. विश्वविद्यालय ने शेष बचे सभी 75 हजार छात्रों को कॉलेज आवंटित करने की तैयारी की है. बता दे 4 जिलों के 74 कॉलेजों में स्नातक एडमिशन की प्रक्रिया पिछले 3 महीने समय से चल रही है कि कॉलेज में चल रही है. 

नीतीश सरकार सड़क दुर्घटना में मृतक के परिजनों को देगी मुआवजा, परिवहन विभाग को निर्देश

एलएलएम व एमजेएमसी की पढ़ाई साल से

मुजफ्फरपुर: बीआरए बिहार विश्वविद्यालय इस साल से मेडिकल से जुड़े 10 कोर्स के साथ एलएलएम व एमजेएमसी की पढ़ाई शुरू करेगा. इसका प्रस्ताव विश्वविद्यालय में तैयार हो गया है. इसी महीने इसके लिए तमाम निकायों से मंजूरी ली जा सकती है. इनकी पढ़ाई स्नातक स्तर के लोग की पढ़ाई पूरी कर चुके छात्र कर सकेंगे, वहीं एमजेएमसी की पढ़ाई स्नातक छात्र कर सकेंगे. हालांकि यह तय होना शेष है. 

पटना: शिक्षा विभाग ने की फर्जीवाड़ा रोकने की तैयारी, मुखिया की मनमानी नहीं चलेगी

कि स्नातक के किन किन विषयों के छात्र कोर्स को करेंगे. एकेडमिक काउंसिल, सिंडीकेट व सीनेट के पास कराकर इसे मंजूरी के लिए राजभवन भेजा जाएगा. बता दें कि मेडिकल से जुड़े 8 कोर्सों को एक प्रस्ताव भी विश्वविद्यालय तैयार कर रखा है. उसमें डिप्लोमा स्नातक पीजी स्तरीय कोर्स हैं. अब तमाम कोर्सों के साथ निकायों को पास कराया जाएगा. इसकी सिलेबस रेगुलेशन को तैयार करने का काम विश्वविद्यालय खुलने पर 4 जनवरी के बाद शुरू किया जाएगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें