मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के आरोपी की मौत, मास्टरमाइंड बृजेश ठाकुर का था मामा

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 03:09 PM IST
बालिका गृह कांड में एक आरोपी रामानुज ठाकुर की तिहाड़ जेल में मौत हो गई है. वह काफी समय से बीमार था. उसका इलाज जेल के अस्पताल में ही चल रहा था. जेल आईजी संदीप कुमार के अनुसार उसकी मौत 3 दिसंबर को ही हो गई थी. पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार दिल्ली में ही कर दिया था.
बालिका गृह कांड के एक आरोपी रामानुज ठाकुर की मौत हो गई है

मुजफ्फरपुर. बालिका गृह कांड के एक आरोपी रामानुज ठाकुर कि दिल्ली तिहाड़ जेल में मौत हो गई है. वह इस मामले के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर का रिश्ते में मामा लगता है. वह काफी समय से बीमार था. उसका इलाज तिहाड़ जेल के अस्पताल में चल रहा था. आरोपी की मौत की पुष्टि दिल्ली के जेल आईजी संदीप गोयल ने की है.

तिहाड़ जेल के आईजी संदीप गोयल ने बताया कि रमेश ठाकुर की 3 दिसंबर को ही मौत हो गई थी. इसके बाद घटना की सूचना देकर परिजनों को तिहार बुलाया गया जहां शव का पोस्टमार्टम करा कर उन्हें सौंप दिया गया. परिजनों ने शव का दिल्ली में ही अंतिम संस्कार कर दिया.

मुजफ्फरपुर: रैंकिंग के दिन नजदीक आए तो नगर निगम स्वच्छता की याद आई

जानकारी के अनुसार इस बात की चर्चा राम अनुज ठाकुर के पैतृक गांव समस्तीपुर के वारिनगर थाना क्षेत्र के रोहुआ में भी है. चूंकि मृतक के परिजन गांव में नहीं है इसलिए ग्रामीणों को इसकी पुष्ट जानकारी नहीं है.

बिहार के कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रहा इमरान हाशमी और सनी लियोनी का बेटा!

आपको बता दें कि आरोपी रामानुज ठाकुर मुजफ्फरपुर बालिका गृह में गेटकीपर था जिसने अपनी ड्यूटी के दौरान काफी गड़बड़ियां की थी. इसके बाद सीबीआई ने उसकी गिरफ्तारी उसके पैतृक गांव से 25 अक्टूबर 2018 को की थी. बच्चियों ने उस पर रेप करने का आरोप भी लगाया था. बाद में सीबीआई ने उसे रिमांड में लेकर जनता से पूछताछ भी की थी. फरवरी 2019 में दिल्ली के साकेत कोर्ट ने रामानुज उर्फ मामू उर्फ कान्हा को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें