सेवा करने वाले पोते ने दादी की ली जान, घर के बाहर झाड़ू लगते समय ट्रक से कुचला

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Sun, 17th Oct 2021, 5:54 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में दादी की सेवा करने वाले पोते ने ही दादी की हत्या कर दी. पुलिस के मुताबिक पोते ने घरेलू विवाद के चलते दादी को ट्रक से कुचलकर मार डाला. जिसकी शिकायत मिलने पर पुलिस ने आरोपी पोते को गिरफ्तार कर लिया है.
सेवा करने वाले पोते ने दादी की ली जान, घर के बाहर झाड़ू लगते समय ट्रक से कुचला

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर में एक कलयुगी पोते ने अपनी ही दादी की हत्या कर दी. पोते ने दादी की हत्या तब की जब वह घर के बाहर झाड़ू लगा रही थी. उसी दौरान पोता ट्रक लेकर और दादी के ऊपर चढ़ा दिया. ट्रक के नीचे आने से दादी की मौके पर ही मौत हो गई. इसकी सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और ट्रक को जब्त कर लिया. साथ ही पुलिस ने आरोपी पोते को भी हिरासत में लेकर थाने ले गई. 

यह घटना करजा थाना क्षेत्र के रक्सा गांव का है. पुलिस के मुताबिक ग्राम निवासी राजेश्वर राय के घर में पिछले दो दिनों से घरेलू विवाद चल रहा था. राजेश्वर राय का बेटा दिलीप कुमार घर पहुंचा और घरेलू विवाद में दादी के साथ गाली-गलौज करने लगा. जब इसका विरोध दादी ने किया तो आरोपी दिलीप ने झगड़े की जड़ बताते हुए उनपर ट्रक चढ़ाकर हत्या करने की धमकी दी. इसी दौरान दिलीप के पिता वहां पर पहुंच गए. जिन्होंने उसे डांटकर वहां से भगा दिया. 

मुजफ्फरपुर में मूर्ति विसर्जन के दौरान करंट की चपेट में आने से बुजुर्ग की मौत

पुलिस ने आगे बताया कि पिता की डांट के बाद दिलीप उस समय तो वहां से चल गया. लेकिन कुछ देर बाद फिर दिलीप ट्रक लेकर घर पर पहुंचा. उस दौरान दादी घर के बाहर झाड़ू लगा रही थी. दादी को घर के बाहर देंख दिलीप ने उनके ऊपर ट्रक चढ़ाकर दिया. ट्रक के नीचे आने से दादी की मौके पर ही मौत हो गई. जब इसकी सूचना पिता राजेश्वर को हुई तो वह थाने पहुंच दिलीप के खिलाफ रिपोर्ट लिखवाई. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंच ट्रक को जब्त कर दिलीप को गिरफ्तार कर लिया. 

इस घटना के बारे में स्थानीय लोगों का कहना है कि दिलीप के पिता से अलग होने के बाद से ही वह दादी का ख्याल रखता था. साथ ही बताया कि वह नशा करता था, लेकिन उसके बावजूद भी दादी की सेवा मन से करता था. इसके साथ ही स्थानीय लोगों में यह भी चर्चा है कि दिलीप का किसी के साथ अवैध संबंध था. जिसकी भनक दादी को लग गई थी. उसे अपना भांडा फूटने का डर था, इसलिए ही उसने दादी की हत्या कर दी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें