मुजफ्फरपुर के मुख्य डाकघर में 9 के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद लिया गया ये फैसला

Smart News Team, Last updated: Thu, 22nd Apr 2021, 7:06 PM IST
  • विभाग ने जारी अपने आदेश में कहा है कि डाकघरों में केवल जरुरी सेवाएं जारी रहेगी. पचास प्रतिशत कर्मी ड्यूटी करेंगे. दवाओं व अन्य बेहद जरूरी सामानों की डिलीवरी की सुविधा जारी रहेगी.
मुजफ्फरपुर के मुख्य डाकघर में 9 के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद लिया गया ये फैसला (फाइल फ़ोटो)

मुजफ्फरपुर: बिहार में बढ़ते कोरोना के मामलों के बिच और विभाग के कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना को संज्ञान में लेते हुए विभाग ने एक अहम कदम उठाया है. विभाग ने जारी अपने आदेश में कहा है कि डाकघरों में केवल जरुरी सेवाएं जारी रहेगी. पचास प्रतिशत कर्मी ड्यूटी करेंगे. दवाओं व अन्य बेहद जरूरी सामानों की डिलीवरी की सुविधा जारी रहेगी. विभाग ने ये स्पष्ट किया की डाकघरों के काउंटरों पर मिलने वाली आवश्यक सेवाओं को जारी रखेगी. 

जबकि डाकियों की ओर से डोर टू डोर पहुंचाये जाने वाली सेवाओं को सीमित कर दिया गया है. यह जानकारी देते हुए प्रवर डाक अधीक्षक राजदेव प्रसाद ने बताया कि तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले को लेकर कर्मियों की सुरक्षा के लिए अगले आदेश तक के लिए सेवाओं को समिति कर दिया गया है. रोस्टर के अनुसार पचास प्रतिशत कर्मियों से ड्यूटी ली जाएगी. 

पटना हाईकोर्ट का अनोखा फैसला, वंश बढ़ाने को कैदी को मिली 15 दिन की पैरोल

दवा व अन्य जरुरी सामानों की डिलेवरी जारी रहेगी. संक्रमण पर रोकथाम के लिए कोरोना प्रोटोकॉल पर सख्ती बरती जा रही है. मास्क व सैनेटाइजर के इस्तेमाल पर जोर दिया जा रहा है. वहीं 20 अप्रैल को प्रधान डाकघर में तीन कर्मचारी समेत नौ लोग कोरोना से पॉजिटिव पाए जाने पर गुरुवार को परिसर को सैनेटाइज किया गया.

कोरोना काल में होगा बिहार पंचायत चुनाव? 15 दिन बाद फैसला लेगा निर्वाचन आयोग

 जनसंपर्क निरीक्षक प्रेरित कुमार ने बताया कि नगर निगम के सहयोग से परिसर को सैनेटाइज कराया गया है. कोशिश की जा रही है की परिसर में काम से काम भिड़ इकट्ठी हो जिससे कोरोना नियमों का पालन करना संभव हो सके. लोगों से अपील भी की जा रही है की अगर बहुत आवश्यक नहीं हो तो पोस्ट ऑफिस में जाने से बचें.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें