मुजफ्फरपुर: फूड पार्क के बाद सर्जिकल, फार्मा पार्क खुलने से बढ़ेगा रोजगार

Komal Sultaniya, Last updated: Mon, 21st Feb 2022, 6:53 PM IST
  • मुजफ्फरपुर को बड़ा तोहफा मिला है. मोतीपुर में देश के सबसे बड़े फूड पार्क के बाद जिले में सर्जिकल और फार्मा पार्क को मंजूरी मिल गई है. बेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल लिमिटेड (IDBL) की जमीन पर सर्जिकल व फार्मा पार्क खुलेगा. इसके लिए उद्योग विभाग से मंजूरी मिल गई है.
मुजफ्फरपुर में फूड पार्क के बाद IDPL की जमीन पर सर्जिकल और फार्मा पार्क खुलेंगे

मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर को बड़ा तोहफा मिला है. मोतीपुर में देश के सबसे बड़े फूड पार्क के बाद जिले में सर्जिकल और फार्मा पार्क को मंजूरी मिल गई है. बेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल लिमिटेड (IDBL) की जमीन पर सर्जिकल व फार्मा पार्क खुलेगा. इसके लिए उद्योग विभाग से मंजूरी मिल गई है. पार्क के लिए बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार (बियाडा) ने केंद्रीय परिवार कल्याण व स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़े संस्थानों से संपर्क किया है. मंत्रालय व केंद्रीय संस्थाओं से मंजूरी के बाद बियाडा बेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित आईडीपीएल परिसर में सर्जिकल व फार्मा पार्क खुल सकेगा.

सर्जिकल व फार्मा पार्क में फैक्ट्रियां खुलने से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. पार्क के लिए बियाडा ने आईडीपीएल की 25 एकड़ जमीन को चिह्नित किया है। इस पार्क में मास्क, पीपीई किट, ऑक्सीजन, ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर, सूई, कॉटन, ग्लव्स, टेस्ट किट, पैथलॉजी व सर्जरी के कार्य में उपयोग आने वाले सामान व दवाओं का उत्पादन हो सकेगा. निजी कंपनियों द्वारा पार्क में फैक्ट्री खोली जायेगी. बियाडा की प्रोजेक्ट क्लीयरेंस कमेटी की अनुशंसा पर सर्जिकल व फार्मा पार्क में फैक्ट्री लगेगी. बियाडा के कार्यकारी निदेशक एसके सिन्हा ने बताया कि बेला औद्योगिक क्षेत्र में सर्जिकल व फार्मा पार्क स्थापित करने के लिए तैयारी चल रही है.

बिहार में बन रहा देश का सबसे बड़ा फूड पार्क, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्थानीय सांसद रहे जार्ज फर्नांडिस की पहल पर 1977 में बेला में इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड (आईडीपीएल) की स्थापना हुई थी. वर्ष 1994 में इसका नाम बिहार ड्रग्स औद्योगिक केमिकल लिमिटेड रखा गया. शुरुआती दौर में नियासिन जैसी विटामिन बी-3 कंपोजीशन, एसिटिक एसिड और दवाओं के लिए कच्ची सामग्री तैयार होती थी. कई नामी दवा कंपनियां यहां से कच्चा माल खरीदती थीं. अप्रैल 1996 में आईडीपीएल बंद हो गया. फिलहाल यहां पर सात साल से एसएसबी का कैंप चल रहा है.

मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर को बड़ा तोहफा मिला है. मोतीपुर में देश के सबसे बड़े फूड पार्क के बाद जिले में सर्जिकल और फार्मा पार्क को मंजूरी मिल गई है. बेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल लिमिटेड (IDBL) की जमीन पर सर्जिकल व फार्मा पार्क खुलेगा. इसके लिए उद्योग विभाग से मंजूरी मिल गई है. पार्क के लिए बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार (बियाडा) ने केंद्रीय परिवार कल्याण व स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़े संस्थानों से संपर्क किया है. मंत्रालय व केंद्रीय संस्थाओं से मंजूरी के बाद बियाडा बेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित आईडीपीएल परिसर में सर्जिकल व फार्मा पार्क खुल सकेगा.

सर्जिकल व फार्मा पार्क में फैक्ट्रियां खुलने से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. पार्क के लिए बियाडा ने आईडीपीएल की 25 एकड़ जमीन को चिह्नित किया है। इस पार्क में मास्क, पीपीई किट, ऑक्सीजन, ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर, सूई, कॉटन, ग्लव्स, टेस्ट किट, पैथलॉजी व सर्जरी के कार्य में उपयोग आने वाले सामान व दवाओं का उत्पादन हो सकेगा. निजी कंपनियों द्वारा पार्क में फैक्ट्री खोली जायेगी. बियाडा की प्रोजेक्ट क्लीयरेंस कमेटी की अनुशंसा पर सर्जिकल व फार्मा पार्क में फैक्ट्री लगेगी. बियाडा के कार्यकारी निदेशक एसके सिन्हा ने बताया कि बेला औद्योगिक क्षेत्र में सर्जिकल व फार्मा पार्क स्थापित करने के लिए तैयारी चल रही है.

बिहार में बन रहा देश का सबसे बड़ा फूड पार्क, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्थानीय सांसद रहे जार्ज फर्नांडिस की पहल पर 1977 में बेला में इंडियन ड्रग्स एंड फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड (आईडीपीएल) की स्थापना हुई थी. वर्ष 1994 में इसका नाम बिहार ड्रग्स औद्योगिक केमिकल लिमिटेड रखा गया. शुरुआती दौर में नियासिन जैसी विटामिन बी-3 कंपोजीशन, एसिटिक एसिड और दवाओं के लिए कच्ची सामग्री तैयार होती थी. कई नामी दवा कंपनियां यहां से कच्चा माल खरीदती थीं. अप्रैल 1996 में आईडीपीएल बंद हो गया. फिलहाल यहां पर सात साल से एसएसबी का कैंप चल रहा है.

|#+|

 

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें