इंडियन आर्मी भर्ती बोर्ड ने फर्जी वेबसाइट और साइबर फ्रॉड से किया सावधान

Smart News Team, Last updated: 18/10/2020 09:28 AM IST
  • भारतीय सेना भर्ती बोर्ड की फर्जी वेबसाइट बनाकर युवकों को गुमराह करने का मामला अधिकारियों की नजर में आया है. भारतीय सेना ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से फर्जी वेबसाइट और साइबर फ्रॉड सेना से बचने की सलाह दी है.
फर्जी वेबसाइट और साइबर फ्रॉड से भारतीय सेना भर्ती बोर्ड ने सावधानी बरतने की सलाह दी है.

मुजफ्फरपुर. कोरोना के कारण भारतीय सेना में भर्ती बोर्ड ने नवंबर तक सेना बहाली की प्रक्रिया पर रोक लगा दी है. इस बीच सेना भर्ती बोर्ड की फर्जी वेबसाइट बनाकर युवकों को गुमराह करने का मामला अधिकारियों की नजर में आया है. साइबर फ्रॉड सेना ने ये काम किया है. इससे युवाओं के डाटा चोरी होने की आशंका जताई जा रही है. इस फर्जी वेबसाइट को लेकर बीते गुरुवार को सेना के एडीजी-पीआई ने सेना के ट्विटर हैंडल पर सूचित किया है. सेना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए ट्वीट में युवाओं को फर्जी वेबसाइट के चक्कर में गुमराह नहीं होने की बात कही है.

सेना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से बताया गया कि सेना भर्ती बोर्ड अपनी सभी प्रकार की गतिविधियों को सरकारी वेबसाइट के जरिए सूचित करती है. वेबसाइट पर दी गई सभी प्रक्रिया निःशुल्क होती है. सेना से जुड़ी गतिविधियों की आधिकारिक वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in पर शेयर की जाती है.

बिहार चुनाव: BSP ने जारी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट, मायावती समेत 30 स्टार प्रचारक

सेना के एडीजी-पीआई ने बताया कि साइबर फ्रॉड युवकों को ठगने के लिए भारतीय सेना के बिल्ला और प्रतीक चिन्ह का इस्तेमाल कर रहे हैं. लेकिन, अभी तक उत्तर बिहार में फ्रॉड से जुड़ी कोई शिकायत सामने नहीं आई है.

इंस्पायर अवार्ड रजिस्ट्रेशन में मुजफ्फरपुर बिहार में अव्वल, देश में 8वें नंबर पर

चक्कर मैदान स्थित सेना भर्ती बोर्ड के निदेशक सेना मंडल कर्नल बॉबी ने बताया कि फिलहाल इस प्रकार की कोई शिकायत नहीं मिली है. युवकों को फर्जीवाड़े से बचाने के लिए जागरूक किया जा रहा है. भर्ती प्रक्रिया को लेकर आधिकारिक वेबसाइट पर जानकारी दी जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें