मुजफ्फरपुर से कुंभ मेला में जा रहे हैं टिकट के साथ कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट भी ले लें

Smart News Team, Last updated: 13/02/2021 06:52 PM IST
मुजफ्फरपुर से अगर कोई 27 फरवरी से हरिद्वार में शुरू हो रहे कुंभ मेले में जा रहा है तो कोरोना आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट ले जाना अनिवार्य है. बिना कोरोना टेस्ट के हरिद्वार गए तो स्टेशन से बाहर नहीं जाने दिया जाएगा.
रेलवे ने निर्देश दिया कि हरिद्वार कुंभ जाने के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट जमा करनी होगी. प्रतीकात्मक तस्वीर

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर. हरिद्वार में 27 फरवरी से कुंभ मेला शुरू होने जा रहा है. कुंभ मेले के लिए मुजफ्फरपुर से ट्रेन से हरिद्वार जाने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना नेगेटिव की रिपोर्ट ले जाना अनिवार्य है. श्रद्धालुओं का कोरोना टेस्ट आरटीपीसीआर से होना चाहिए. इस बारे में शुक्रवार को रेलवे ने निर्देश भी जारी किया है. अगर आप बिना कोरोना टेस्ट के कुंभ मेले में शामिल होने जाते हैं तो आपको बैरंग लौटा दिया जाएगा.

इस बारे में सीपीआरओ राजेश कुमार ने कहा कि कुंभ मेला में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होते हैं. उनके स्वास्थ्य हित को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने कोविड-19 से जुड़े प्रोटोकॉल का पालन अनिवार्य कर दिया है. उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं केा चिकित्सा/कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण पत्र और अधिकतम 72 घंटे के अंदर जारी कोविड-19 आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट साथ रखनी अनिवार्य है.

कल्याण विभाग के आवासीय विद्यालयों में नामांकन को आवेदन प्रक्रिया शुरू

आपको बता दें कि हरिद्वार में शुरू होने वाला कुंभ मेला 12 साल में एक बार होता है. इस बार हरिद्वार कुंभ मेला 27 फरवरी को शुरू होने जा रहा है जो 27 अप्रैल तक चलेगा. कुंभ मेले में चार शाही स्नान होंगे. 11 मार्च को महाशिवरात्रि पर पहला शाही स्नान होगा. दूसरा शाही स्नान 12 अप्रैल, तीसरा शाही स्नान 14 अप्रैल और आखिरी शाही कुंभ स्नान बैशाखी पर 27 अप्रैल को होगा.

मुजफ्फरपुर: ममता कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ निकाला जुलूस, सौंपा ज्ञापन

कोरोना को देखते हुए कुंभ मेले में सावधानियां बरती जा रही है. इसके लिए उत्तराखंड सरकार और केन्द्र सरकार ने भी निर्देश जारी कर दिए हैं. जिसके मुताबिक, कुंभ मेले में आने वाले हर व्यक्ति को महाकुंभ मेला 2021 के वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा, केवल रजिस्टर्ड लोगों को ही कुंभ में एंट्री मिलेगी. कुंभ मेले में संगठित रूप से भजन-गायन और भंडारा नहीं होगा. रेलवे स्टेशन पर श्रद्धालु टिकट, रजिस्ट्रेशन और कोरोना की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट दिखाएंगे, तभी स्टेशन से निकलने दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें