आर्म्स एक्ट हटाने के लिए दारोगा ने मांगा घूस, ऑडियो वायरल, IG ने किया सस्पेंड

Smart News Team, Last updated: Mon, 11th Jan 2021, 6:12 PM IST
  • आर्म्स एक्ट की धारा हटाने के लिए 50 हज़ार रुपए के रिश्वत मांगने के आरोप में प्राथमिक जांच के आधार पर सस्पेंड कर दिया गया है. सहबाजपुर के रंजन कुमार द्वारा खेत में मार पीट करने और हथियार के बल पर 14 हज़ार रुपए का गेहूं लूट लेने का आरोप लगाया गया था. जिसकी जांच दारोगा हरेराम सिंह कर रहे थे.
आर्म्स एक्ट हटाने के लिए दारोगा ने मांगा घूस, ऑडियो वायरल, IG ने किया सस्पेंड (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुजफ्फरपुर: बिहार पुलिस एकबार फिर तब शर्मिंदा हुई जब आर्म्स एक्ट की धारा हटाने के लिए मुजफ्फरपुर के दारोगा का घूस मांगने का ऑडियो वायरल हो गया. मुजफ्फरपुर में घूस मांगने के आरोप में घिरे अहियापुर थाने के दारोगा हरेराम सिंह को रविवार को रेंज आईजी ने सस्पेंड कर दिया है. साथ ही विभागीय जांच के बाद करवाई की अनुमति भी दी है. दारोगा आरोप पर है कि एक केस में आर्म्स एक्ट की धारा हटाने को लेकर 50 हजार रुपये रिश्वत मांगने का आरोप लगा है. बीते दिनों इसका ऑडियो वायरल हो गया था. आईजी ने इस ऑडियो के जांच के आदेश दिए थे. प्रारंभिक जांच में मामला सत्य पाया गया है.

आईजी गणेश कुमार ने बताया कि अहियापुर थाने में 25 अप्रैल 2020 को सहबाजपुर के रंजन कुमार ने आर्म्स एक्ट में एक केस कराया था. इसमें सात को नामजद और 25 अज्ञात को आरोपित किया था. खेत में पकड़कर मारने-पीटने और हथियार के बल पर 14 हजार रुपये का गेहूं लूटने का आरोप लगाया था. इसकी जांच दारोगा हरेराम सिंह कर रहे थे.

बिहार बोर्ड BSEB ने जारी किए मैट्रिक एग्जाम 2021 के एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड

जांच के दौरान आरोपितों से आर्म्स एक्ट व अन्य धारा हटाने के लिए 50 हजार रुपये की मांग की थी. रुपये नहीं देने पर बगैर जांच के ही जेल भेजने की धमकी भी दी थी. इसका ऑडियो वायरल हुआ था. साथ ही कोर्ट में इसकी केस डायरी भी जमा नहीं कर रहे थे. इस पूरे प्रकरण की जांच एसएसपी से कराई गई. उनकी रिपोर्ट के आधार पर दारोगा को सस्पेंड कर दिया गया है.

बिहार जूनियर कबड्डी तिरहुत जोन: सीतामढ़ी ने मुजफ्फरपुर को हराकर जीता खिताब

आईजी गणेश कुमार ने बताया कि इस तरह की घटनाओं का उचित जांच के बाद अवश्य करवाई की जायेगी. प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी है, और हम किसी भी स्थिती में इससे निपटने के लिए तैयार हैं. पुलिस पर लोगों को भरोसा कायम है, और हम इसे टूटने नहीं देंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें