मुजफ्फरपुर: अगवा छात्रा की मां को आरोपितों ने बनाया बंधक, पुलिस पर लगे आरोप

Smart News Team, Last updated: 07/10/2020 01:47 PM IST
मुजफ्फरपुर के सकरा थाना‌ क्षेत्र के एक गांव से दो महीने पहले अगवा की गई नौवीं की छात्रा की मां और‌ सहित तीन लोगों को आरोपित पक्षों ने बंधक बना लिया. पुलिस को इसकी जानकारी मिलते ही तीनों को कमरे से निकाल हिरासत में ले लिया. बंधक बनाने वालों कार्रवाई नहीं हुई इसलिए पुलिस पर पक्षपात के आरोप लग रहे हैं.
मुजफ्फरपुर: अगवा छात्रा की मां को आरोपितों ने बनाया बंधक, पुलिस पर लगे आरोप

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के सकरा थाना‌ क्षेत्र के एक गांव से दो महीने पहले अगवा की गई नौवीं की छात्रा की मां और‌ उसके परिजनों को आरोपित पक्षों ने बंधक बना लिया. छात्रा की मां सहित तीन लोगों को गांव के स्कूल के कमरे में बंद कर दिया. पुलिस को इसकी जानकारी मिलते ही तीनों को कमरे से निकाल हिरासत में ले लिया गया.

पुलिस ने इनको कमरे में बंद करने  वाले किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. इस कारण पुलिस पर पक्षपात का आरोप लग रहा है. घटना को लेकर बताया गया कि गांव में दो पक्षों के बीच में मारपीट हुई थी. इसके बाद‌ दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ एफआईआर करवाई थी. 

मुजफ्फरपुर: दो लड़कियों का शव मिलने से सनसनी, 3 दिन से लापता थीं इंटर छात्राएं

यह सब होने के कुछ ही दिनों बाद नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली लड़की का अपहरण कर लिया गया. इसको लेकर छात्रा की मां ने दूसरे पक्ष के खिलाफ एफआईआर कराई थी. मामले में अभी तक कुल तीन एफआईआर दर्ज हो चुकी है. लेकिन इसके बाद भी अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. ना ही छात्रा को अभी तक पुलिस‌ बरामद कर पाई है.  छात्रा की मां अपनी बेटी को वापस पाने के लिए एसएसपी से लेकर आईजी तक के पास जा चुकी पर अभी तक कुछ हुआ नहीं.

मुजफ्फरपुर में शराब माफिया को अरेस्ट करने गई पुलिस टीम पर हमला, थानेदार घायल

इसी बात से दूसरा पक्ष गुस्से में था कि पुलिस के सीनियर अधिकारियों के पास छात्रा की मां क्यों जा रही है. इसी कारण इन्होंने सोमवार को अगवा की गई लड़की की मां और उसके परिजनों को बंधक बना लिया. दूसरा पक्ष कह रहा कि उनके खिलाफ अपहरण की झूठी एफआईआर कराई गई है. मामले में सकरा सर्किल इंस्पेक्टर शिवनारायण राम ने बताया कि महिला को मारपीट मामले में पहले से दर्ज एफआईआर में गिरफ्तार किया गया है. जबकि दो युवक को बांड पर छोड़ दिया गया है. दूसरे पक्ष के लोगों की भी गिरफ्तारी होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें