मुजफ्फरपुर: सेफ्टी टैंक सेंटिंग हटाने गए 2 भाइयों की दम घुटने से मौत, पिता बेहोश

Smart News Team, Last updated: 08/09/2020 03:02 PM IST
  • मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में नए बन रहे मकान में लगे सेफ्टी टैंक का सेंटिंग हटाने गए दो सगे भाई का दम घुटने से मौत हो गई. उनके पिता बेहोश हो गए. उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया.
मुजफ्फरपुर: सेफ्टी टैंक सेंटिंग हटाने गए 2 भाईयों की दम घुटने से मौत, पिता बेहोश

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के मोतीपुर एक दर्दनाक हादसे में दो भाइयों की मौत हो गई और उनके पिता अस्पताल पहुंच गए. मंगलवार सुबह हुई इस घटना ने पूरे परिवार को सदम में डाल दिया है. बताया गया कि मोतीपुर बाजार में बन रहे नए मकान के सेफ्टी टैंक का सेंटिंग हटाने गए दो भाइयों की मौत हो गई. उनकी मौत कहा जा रहा है कि टंकी के अंदर दम घुटने से हुई. साथ ही उनके पिता बेहोश हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया. 

दोनों भाईयों की मौके पर मौत हो गई और बेहोश पिता को मोतीपुर पीएचसी में भर्ती करवाया गया है. मृतकों के शवों को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसजेएमसीएच भेज दिया है. पुलिस ने कहा कि उनके पास इस मामले में कोई शिकायत नहीं दर्ज हुई है. थानेदार अनिल कुमार ने कहा कि अभी मामले को लेकर आवेदन नहीं दिया गया. हालांकि पुलिस प्रारंभिक छानबीन में जुट गई है.

बेहोश पिता को अस्पताल भेजकर पुलिस ने शवों को कब्जे में लिया. दोनों शवो को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. 

मजफ्फरपुर: दीघरा अपहरण कांड में बिहार महिला आयोग ने एसएसपी से मांगी रिपोर्ट

पुलिस ने आस-पास के लोगों से पूछताछ की. जानकारी मिली है कि मोतीपुर बाजार निवासी किराना व्यवसायी पवन गुप्ता का एक बनता हुआ मकान है. महना निवासी राजमिस्त्री शंकर पंडित अपने दो बेटों अनिल और सुनील पंडित के साथ उसके सेफ्टी टैंक में लगे सेंटिंग को खोलने गए थे. दोनों लड़के एक के बाद एक करके टंकी में घुसे. वहीं दोनों का दम घुट गया. 

मुजफ्फरपुर: बाइक एजेंसी लूटने आए बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़,1 जवान सहित दो घायल

ये देखकर शंकर पंडित भी टंकी के अंदर घुसे. उनका भी दम घुटने लगा और वो चिल्लाने लगे. आस-पास के लोगों ने शोर सुनकर उन्हें बचाया. शंकर पंडित बेहोश हो गए थे और सुनील और अनिल के शव टंकी में मिले. पुलिस को मामले की जानकारी दी. पुलिस ने शव को कब्जे में लिया और शंकर को अस्पताल में भर्ती करवाया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें