मुजफ्फरपुर: गांवों में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी करेगा प्रशासन

Smart News Team, Last updated: 10/08/2020 05:17 PM IST
  • मुजफ्फरपुर और आस-पास के गांवों में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी प्रशासन करेगा. इन मरीजों के लापरवाही करने की शिकायतें प्रशासन के पास आ रही हैं. ऐसे में कोरोना के केस ना बढ़ें इसके लिए प्रशासन ये कदम उठाने जा रहा है.
मुजफ्फरपुर: गांवों में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी करेगा प्रशासन

मुजफ्फरपुर के गांवों से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को शिकायतें मिल रही हैं कि वहां होम आइसोलेशन में रह रहे लोग इसके नियमों का पलन नहीं कर रहे हैं. मुजफ्फरपुर के ग्रामीण इलाकों में जो होम आइसोलेशन में रह रहे हैं वो आराम से गांव में और अपने रिश्तेदारों और पड़ोसियों के घर आ जा रहे हैं. जो भी कोरोना मरीज बिना लक्षण के हैं उन्हें होम आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया है. हालांकि लोग इसका पालन नहीं कर रहे हैं.

यही कारण है कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की लापरवाही से कोरोना संक्रमण की चेन लगातार बढ़ती जा रही है. दरअसल स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को लंबे समय से शिकायत मिल रही है कि होम आइसोलेशन में भेजे गए लोग आराम से घूम रहे हैं. बढ़ती शिकायतों के बाद प्रशासन ने फैसला लिया है कि अब इन लोगों की निगरानी की जाएगी. 

मुजफ्फरपुर: बाढ़ प्रभावित इलाकों के घरों में घुसे सांप-बिच्छू, खौफ में लोग

समय-समय पर स्वास्थ्य विभाग की टीम होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों के घर जाएगी और उनकी गतिविधियों की जानकारी लेगी. इसके लिए इन लोगों के पड़ोसियों से भी बात की जाएगी. यदि इस मामले में किसी की भी शिकायत मिलती है या कोई नियम नहीं मानता है तो उन्हें कोविड केयर सेंटर में लाकर रखा जाएगा.

मुजफ्फरपुर: कोरोना काल में चमकी-बुखार की दस्तक, एक बच्ची की मौत, छह भर्ती

बता दें कि मुजफ्फरपुर के ग्रामीण इलाकों में 785 कोरोना मरीज बिना लक्षण के हैं जो होम आइसोलेशन में रह रहे हैं. प्रशासन की ओर से करीब 700 मरीजों के घरों के आगे कोरोना पॉजिटिव होने को चिह्नित करने वाला पंफलेट लगाया गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें