मुजफ्फरपुर: शराब माफियाओं ने युवक को तेजाब से जलाया, मरा समझ रेलवे लाइन पर फेंका

Smart News Team, Last updated: 07/10/2020 02:51 PM IST
  • मुजफ्फरपुर के हतौड़ी थाने क्षेत्र में शराब माफियाओं ने एक दलित युवक को तेजाब से जला कर रेल की पटरियों के किनारे मरा समझकर फेंक दिया. हतौड़ी पुलिस को इस घटना को कोई जानकारी नहीं. तेजाब पीड़ित एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में जिंदगी और मौतके बीच जूझ रहा है.
मुजफ्फरपुर: शराब माफियाओं ने युवक को तेजाब से जलाया, मरा समझ रेलवे लाइन पर फेंका

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर में सोमवार की रात को शराब माफियाओं ने एक दलित युवक को तेजाब से जला दिया और युवक को मारा हुआ समझकर उसे रेलवे लाइन के किनारे जंगल में फेंक कर चले गए. दूसरे दिन मंगलवार की दोपहर में वहां से गुजर रहे एक राहगीर ने उसकी दर्द से कराहने की आवाज सुनी और लोगो को घटना की सूचना दी. ये वारदात मुजफ्फरपुर के हथौड़ी थाना क्षेत्र का है. पीड़ित युवक कि पहचान परमजीवर गांव के अमित कुमार के रूप में हुई है. बताया जा रहा है कि युवक ने शराब की खेप अनलोड करते हुवे शराब माफियाओं को देख लिए था.

यह बात जब युवक के परिजनों को पता चली तब वह घटनास्थल पर पहुंचे और उसे आनन फानन में एसकेएमसीएच हॉस्पिटल पहुंचाया. जहां बर्न वार्ड में उसका इलाज चल रहा है. इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि युवक की हालत बेहद ख़राब है, इन्फेक्शन होने का भी खतरा है. फ़िलहाल वह अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है. अस्पताल में मौजूद परिजनों ने बताया कि गांव के ही शराब धंधेबाजों ने उसको तेजाब से जलाया है. मामले में पीड़ित का बयान अभी दर्ज नहीं हो पाया है. एसकेएमसीएच चौकी के प्रभारी ने बताया कि युवक की स्थिति ठीक नहीं है जैसे ही उसके स्थिति में सुधार हो जायेगा उसके बाद उसका बयान दर्ज किया जाएगा.

मुजफ्फरपुर: अगवा छात्रा की मां को आरोपितों ने बनाया बंधक, पुलिस पर लगे आरोप

युवक को तेजाब से जलाने की घटना से इलाके में सनसनी फ़ैल हुई है. घटनास्थल पर बहुत लोग पहुंचे थे लेकिन हतौड़ी पुलिस को इस घटना की कोई भनक भी नहीं मिली. हतौड़ी थाने के थानेदार का कहना है कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है यदि परिजन आवेदन देते हैं तो कार्यवाही जरूर की जाएगी. घटना कि जानकारी होने के बावजूद भी रात तक कोई भी पदाधिकारी एसकेएमसीएच हॉस्पिटल नहीं पंहुचा. इस मामले पर एसएसपी जयकांत का कहना है कि तेजाब से जले युवक की अहियापुर थाने की पुलिस बयान लेने गयी थी. लेकिन उसकी स्थिति ठीक ना होने के कारण बयान नहीं लिया जा सका. हथौड़ी पुलिस को भी आरोपितों को पकड़ने के लिए कहा गया है.

मुजफ़्फरपुर:धार्मिक स्थल तोड़ते हुए गिरी रेलिंग, दो मजदूर मलबे में दबे, एक गंभीर

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें