मुजफ्फरपुर: डेमोक्रेटिक यूथ ने केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ किया प्रदर्शन

Smart News Team, Last updated: 01/09/2020 09:03 AM IST
  • सोमवार को ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइजेशन ने केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया. सरकार के विरोध में नारेबाजी और प्रदर्शन करने के बाद संगठन के प्रतिनिधियों ने प्रखंड सह अंचल कार्यालय में अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा.
ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक युथ ऑर्गेनाइजेशन

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर में सोमवार को ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइजेशन ने प्रखंड सह अंचल कार्यालय पर सरकार की नीतियों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. विरोध प्रदर्शन में शामिल लोगों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ नारा लगाया.

विरोध प्रदर्शन के दौरान संगठन के सचिव अनिल कुमार ने कहा कि सरकार देश की जनता को बरगलाने के लिए सिर्फ जुमलेबाजी कर रही है. अनिल कुमार केंद्र सरकार को घेरते हुए कहते है कि सरकार एक-एक करके सभी सरकारी संस्थाओं को प्राइवेट कंपनियों के हाथों में बेचती जा रही है. 

मुजफ्फरपुर: PM मोदी ने 7 दिनों में बनवा दिया 500 बेड कोरोना अस्पताल, कल से इलाज

अनिल कुमार ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि जब सरकार इन सरकारी संस्थाओं को चला रही है तो ये संस्थाएं घाटे में चली जा रही हैं, फिर सरकार इन संस्थाओं को प्राइवेट कंपनियां के हाथों में सौंप देगी. इन संस्थाओं को लेने के लिए प्राइवेट कंपनियां बेचैन है. ये सवाल है. सरकार की ये सब सोची समझी साजिश का परिणाम है. 

प्रदर्शनकारी रंजीत कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार युवाओं को रोजगार देने की बजाए गरीबों-मजदूरों का रोजगार छीनने में लगी है. सरकार के विरोध में नारेबाजी और प्रदर्शन करने के बाद संगठन के प्रतिनिधियों ने प्रखंड सह अंचल कार्यालय को ज्ञापन सौंपा.

द वाक फिल्म से मजदूरों के पलायन का दर्द दिखाएगी मुजफ्फरपुर के बाप-बेटे की जोड़ी

ज्ञापन में रेलवे के निजीकरण को बंद करने, मजदूरों और बेरोजगार युवा को रोजगार देने की मांग शामिल था. इसके अलावा संगठन ने जब तक काम नहीं तब तक बेरोजगारी भत्ता आठ हजार रुपये प्रति माह देने की मांग सरकार से की. ज्ञापन देने वाले लोगों में निशांत कुमार, राजन कुमार, हरदेव राम, श्यामदेव कुमार, यमुना कुमार, अवधेश ठाकुर, अजय कुमार शामिल थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें