मुजफ्फरपुर में घट रहा बाढ़ का जलस्तर, जीवन वापस लौट रहा पटरी पर

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th Aug 2020, 10:35 AM IST
  • बिहार के मुज्जफरपुर जिले में बाढ़ के जलस्तर में गिरावट दर्ज की गई है. जिससे बढ़ा पीड़ितों को काफी राहत मिलने लगा है .हालांकि, अभी भी सड़क पर शरण लेने वालों की स्थिति ठीक नहीं हैं.
मुजफ्फरपुर में घट रहा बाढ़ का जलस्तर, जीवन वापस लौट रहा पटरी पर

मुजफ्फरपुर. बिहार में बाढ़ का कहर जारी है. उत्तर बिहार में प्रमुख नदियों के जलस्तर कम होने से लोगों को राहत मिली है. प्रमुख नदियां जैसे बूढ़ी गंडक, बागमती, कमला और अधवारा नदी के जलस्तर में गिरावट आई है. इसके बाद ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में फैला बाढ़ का पानी धीरे-धीरे वापस होने लगा है. इससे लोगों को राहत मिल रही हैं.

मुजफ्फरपुर में प्रमुख गंडक नदी, बूढ़ी गंडक नदी और बागमती नदी के जलस्तर में काफी गिरावट दर्ज किया गया है. इन तीनों नदी में गिरावट आने के बाद कटरा, गायघाट, सरैया, साहेबगंज, पारु, औराई, सकरा समेत मुशहरी इलाके में बाढ़ से पीड़ित लोगों को बड़ी राहत मिल रही है. धीरे-धीरे जैसे बाढ़ का जलस्तर कम हो रहा है लोगों की जिन्दगियां वापस पटरी पर आ रही हैं.

मुजफ्फरपुर: लॉकडाउन उल्लंघन पर बरुराज पुलिस ने दुकानदार को बेरहमी से पीटा

हालांकि, अभी भी सड़क पर शरण लेने वालों की स्थिति ठीक नहीं हुई हैं. वे अभी सड़क पर शरण लेने के लिए मजबूर हैं. अभी इन इलाकों में कीचड़ जमा हो गया है. कुछ दिन बाद सुख जाएगा, तब ही लोग अपने घरों के तरफ वापस बढ़ सकेंगे. बताया जा रहा है कि मोतिहारी में भी बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में गिरावट दर्ज किया गया है. 

मुजफ्फरपुर: मंदिर की साफ-सफाई में हाईटेंशन करंट से एक की मौत, दो झुलसे

साथ ही, चटिया में जलस्तर कम हो गया है. यहां के लोगों की जिन्दगी वापस पहले वाली स्थिति में लौट रही है. नई जानकारी के अनुसार सोमवार को गंडक बराज से 1.94 लाख क्यूसेक पानी झोड़ा गया है. जिन-जिन जगहों पर पानी की निकासी हो गई है, वहां इन दिनों ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है, ताकि संक्रामक रोगों को फैलने से रोका जा सकें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें