मुजफ्फरपुर में मामा और मौसा ने करा दिया भांजा किडनैप, जमीन के लालच में रची साजिश

Smart News Team, Last updated: Wed, 2nd Sep 2020, 7:21 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में 30 अगस्त को योगेंद्र राय के नाती चाहत कुमार का अपहरण उसके अपने मामा और मौसा ने ही करा लिया. घटना के 48 घंटे में ही पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया.
गिरफ्तार आरोपी

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के साहेबगंज के जिराती टोला निवासी योगेंद्र राय के नाती का 30 अगस्त को अपहरण हो गया था. अब पुलिस ने उनके नाती चाहत कुमार को तरियानी छपरा से बरामद किया है. इसके साथ ही पुलिस ने ममेरे भाई, मौसा समेत 13 अपहरणकर्ताओं को शिवहर और मुजफ्फरपुर के अलग-अलग थाना क्षेत्र से पकड़ा गया है. अपहरणकर्ताओं के गिरोह में एक बैंक मैनेजर का बेटा भी शामिल था. उसी की गिरफ्तारी के बाद यह पूरा मामला खुला और पुलिस अपहरण के 48 घंटे बाद ही चाहत कुमार को बरामद करने में सफल रही. पुलिस ने सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

मुजफ्फरपुर से किडनैप बच्चा शिवहर से बरामद, 1 करोड़ मांगी थी फिरौती, 10 गिरफ्तार

चाहत कुमार अपने पिता के साथ

मुजफ्फरपुर: अस्पताल पर बिना इलाज के 56 हजार का बिल थमाने का आरोप, हंगामा

इस मामले में एसएसपी जयंतकांत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि चाहत के मामा और मौसा ने ही मिलकर उसके अपहरण की साजिश रची थी. दरअसल उन लोगों की नजर चाहत के नाना योगेंद्र राय के अचल संपत्ति पर थी. बताया कि चाहत के नाना योगेंद्र राय ने मई 2020 में उसके नाम कुछ जमीन गिफ्ट किया था. इसी से विवाद भी उत्पन्न हो गया. 

मुजफ्फरपुर: कम्युनिस्ट नेता अशोक कुमार सिंह को लाल सलाम के साथ अंतिम विदाई

जानकारी के मुताबिक 30 अगस्त की दोपहर बाइक सवार अपहरणकर्ताओं ने चाहत को उसके नाना के घर के दरवाजे से उठा लिया. उसके एक दिन बाद 31 अगस्त को मां चंपा देवी के बयान पर एक मोबाइल धारक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई शुरू की गई थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें