गलाने के लिए केमिकल में डूबा कर रखी गई लाश, हुआ जोरदार विस्फोट फिर...

Somya Sri, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 9:33 AM IST
  • शव को गलाने के लिए प्लास्टिक के ड्रम में केमिकल डाल कर रखी गई जिसका शनिवार देर रात जोरदार विस्फोट हो गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब बंद पड़े कमरे को खोला तो उनके होश उड़ गए. शव के टुकड़े-टुकड़े इधर-उधर कमरे में बिखरे पड़े थे.
गलाने के लिए केमिकल में डूबा कर रखी गई लाश, हुआ जोरदार विस्फोट फिर...(प्रतिकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर: मुजफ्फरपुर से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. जहां शव को गलाने के लिए प्लास्टिक के ड्रम में केमिकल डाल कर रखी गई जिसका शनिवार देर रात जोरदार विस्फोट हो गया. विस्फोट से इलाके में सनसनी मच गई. घरों की खिड़कियां टूट गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब बंद पड़े कमरे को खोला तो उनके होश उड़ गए. शव के टुकड़े-टुकड़े इधर-उधर कमरे में बिखरे पड़े थे.

मिली जानकारी के मुताबिक मुजफ्फरपुर नगर थाना के बालू घाट श्री राम मंदिर के पास तीन मंजिले मकान में एक शव को गलाने के लिए प्लास्टिक के ड्रम में रखा गया. शव के ऊपर से केमिकल भरकर ड्रम बंद कर दिया गया. फिर शनिवार रात करीब 8 बजे जोरदार विस्फोट हुआ. आसपास के इलाके में सनसनी मच गई. आसपास के घरों की खिड़कियां भी टूट गई. मौके पर जब पुलिस पहुंची तो उन्होंने देखा कि कमरे में ताला बंद है. कमरे में रहने वाला किराएदार सुभाष कुमार यादव भी गायब था. जब इस बारे में मकान मालिक से पूछताछ की गई तो उन्होंने खुद को घटना से अनजान बताया. किसी तरह अग्निशमन की टीम ने कमरे में प्रवेश किया. अंदर का दृश्य देखकर उनके रोंगटे खड़े हो गए. जानकारी के मुताबिक विस्फोट इतना जोरदार हुआ की शव की पहचान तक नहीं हो पा रही है. बताया जा रहा है कि शव महिला का है या पुरुष का यह भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है.

बिहार में पंचायत सरकार भवनों में खुलेंगी बैंक शाखाएं, डिप्टी सीएम के निर्देश

पुलिस के मुताबिक शव 5 दिन पहले प्लास्टिक के ड्रम में रखी गयी थी. शव के टुकड़े टुकड़े करके ड्रम में केमिकल डालकर रख दिया गया था. पुलिस ने बताया कि शव पूरी तरह से सड़ चुका है. फिलहाल पुलिस ने कमरे को सील कर दिया है. छानबीन के लिए इस संबंध में एसएसपी ज्वाइन कांत ने बताया की अब एफएसएल की टीम मौके पर पहुंचकर जांच करेगी. जानकारी के मुताबिक किराएदार सुभाष कुमार जो इस वक्त गायब है वह शराब सिंडिकेट चलाता है और उसके यहां डिलीवरी ब्वॉय काम करते हैं. पुलिस ने बताया कि किराएदार सुभाष यादव की गिरफ्तारी के बाद ही मामले का खुलासा हो पायेगा. फिलहाल ये मामला मर्डर का लग रहा है. मकान मालिक के मुताबिक किराएदार सुभाष कुमार ने कुछ महीने पहले ही फ्लैट किराए पर लिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें