मुजफ्फरपुर: एक ही व्यक्ति का 11 साल में दो बार बना मृत्यु प्रमाण पत्र, जानिए मामला

Smart News Team, Last updated: Sat, 27th Feb 2021, 8:03 AM IST
  • मुजफ्फरपुर के मड़वन में पंचायत सचिव ने 11 साल में एक व्यकित का दो बार मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया. जांच के बाद खुलासा हुआ है कि प्रमाण पत्र जारी करते समय सचिव ने स्थल पर जाकर जांच नहीं की थी.
पचांयत सचिव ने एक ही व्यकित का दो बार मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किया.( सांकेतिक फोटो )

मुजफ्फरपुर: मुजफ्फरपुर के मड़वन में ऐसा फर्जी मामला सामने आया है जहां पंचायत सचिव ने एक व्यकित का 11 साल में दो बार मृत्यु प्रमाणपत्र जारी कर दिया. मामले का खुलासा होने पर प्रशिक्षु आइएएस और मड़वन की बीडीओ खुशबू गुप्ता ने जिला पंचायती राज पदाधिकारी से सचिव के खिलाफ कार्रवाई मांग की है.

आपने अभिनेता पंकज त्र‍िपाठी की फ‍िल्‍म 'कागज़' तो देखी होगी, तो इससे आपको मामला आसानी से समझ में आ जाएगा. जिले के पंचायत सचिव बिना जांच के मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर रहे है. मड़वन के मकदुमपुर कोदरिया पंचायत निवासी मो. एनुल हक के नाम पर 2009 में मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किया गया था. वहीं कुछ दिनों पहले पंचायत सचिव ने मो. एनुल हक के नाम पर दूसरा मृत्यु प्रमाण पत्र कर दिया. मामले की जांच पता चला है कि शहनवाज आलम नामक व्यक्ति ने समीना खातून के नाम से गलत शपथ-पत्र देकर फिर से मृत्यु प्रमाणपत्र बनवा लिया.

विधानसभा में बोले मंत्री मंगल पांडेय- बिहार में जल्द होगी 6300 अधिक डॉक्टरों की बहाली

पंचायत सचिव पर कार्रवाई

प्रशिक्षु आइएएस और मड़वन बीडीओ ने पंचायत सचिव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. प्रशिक्षु आइएएस ने बताया कि पंचायत सचिव बिना स्थल जांच के पूर्व से प्रभार रिपोर्ट और पंचायत अभिलेख की जांच पड़ताल किए बिना ही दुबारा प्रमाणपत्र जारी कर दिया. वहीं पंचायत रजिस्टर में मृत्यु प्रमाण पत्र से जुड़ी जानकारियां भी उपलब्ध नहीं है. इससे स्पष्ट होता है कि पंचायत सचिव ने जान बूझकर दोबारा मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किया. इसलिए उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए.

मुजफ्फरपुर: निर्वाचन आयोग के निर्देश के बाद भी अंतिम मतदाता सूची में गड़बड़ी

BSSC इंटर स्तरीय मुख्य परीक्षा का रिजल्ट जारी, ऐसे जानें अपना रिजल्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें