मुजफ्फरपुर: 25 सितंबर को कृषि बिल के खिलाफ भारत बंद की तैयारियां तेज

Smart News Team, Last updated: Wed, 23rd Sep 2020, 8:14 AM IST
  • मुजफ्फरपुर जिला किसान सभा ने कृषि बिल के खिलाफ 25 सितंबर को होने वाले ग्रामीण भारत बंद की तैयारियों और उसे सफल बनाने के लिए बैठक की. वक्ताओं ने कहा कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति के आह्वान पर होने जा रहा यह आंदोलन कई मायनों में ऐतिहासिक होगा.
25 सितंबर को कृषि बिल के खिलाफ भारत बंद की तैयारियां तेज (फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर. मंगलवार को जिला मुजफ्फरपुर जिला किसान सभा ने मिठनपुरा स्थित चंद्रशेखर भवन में 25 सितंबर को होने वाले ग्रामीण भारत बंद की तैयारियों और उसे सफल बनाने के लिए बैठक की. इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति के आह्वान पर होने जा रहा यह आंदोलन कई मायनों में ऐतिहासिक होगा. गांव से लेकर शहरों तक लोग सड़कों पर उतरेंगे और बिल का विरोध करेंगे और रेल भी रोकेंगे. इसके अलावा शहर में शहीद खुदीराम बोस स्मारक स्थल से मार्च निकलेगा. 

मौके पर मौजूद वरिष्ठ किसान नेता भोलानाथ झा ने कहा कि किसान विरोधी कानून लागू होने से खेती-किसानी पर कॉरपोरेट घरानों का कब्जा हो जाएगा. इससे छोटे और मध्य वर्ग के किसान की रोजी रोटी छीन जाएगी. उन्होंने कहा कि ये तीन बिल लागू होने से किसान कर्ज में डूब जाएंगे. 

बिहार चुनाव: डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का वीआरएस, एसके सिंघल नए पुलिस महानिदेशक

गौरतलब है कि संसद में पारित किए गए बिल के खिलाफ कॉरपोरेट भगाओ-किसान बचाओ अभियान के तहत 25 सितंबर को ग्रामीण भारत बंद का ऐलान किया जा रहा है. इसी की सफलता के लिए मंगलवार को मुजफ्फरपुर जिला किसान सभा ने बैठक की. इस बैठक की अध्यक्षता मुक्तेश्वर प्रसाद सिंह ने की. इस दौरान मौके पर अभियान संयोजक चंदेश्वर प्रसाद चौधरी, मदन प्रसाद, रामकिशोर झा, परशुराम पाठक, लालबाबू महतो, शंभू चरश ठाकुर और मो. इस्माइल समेत और भी कई लोगों ने अपनी बातें रखी.

मुजफ्फरपुर फर्जी डकैती-अपहरण कांड में लोगों के खिलाफ FIR पर वकीलों ने उठाए सवाल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें