मुजफ्फरपुर: होम क्वारंटाइन वाले कोरोना मरीजों की लापरवाही कहीं पड़ ना जाए भारी !

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 03:11 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में होम क्वारंटाइन में रहने वाले कोरोना मरीजों की लापरवाही और लोगों पर भारी पड़ सकती है. उनके कारण कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है. ये लोग घर में रहने की जगह बाहर आराम से घूम रहे हैं.
मुजफ्फरपुर में होम क्वारंटाइन वाले कोरोना मरीजों की लापरवाही भारी ना पड़ जाए. इनके कारण कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है.

मुजफ्फरपुर में होम क्वारंटाइन में रहने वाले कोरोना मरीज बन रहे संक्रमण के वाहक. जो मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, उन्हें कुछ समय के लिए होम क्वारंटाइन रहने के लिए कहा जा रहा है. लेकिन वो ऐसा ना करके बाहर घूम रहे हैं. उनकी ये लापरवाही और लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर सकती है. ये लोग गली मोहल्लों और चौक-चौराहों पर घूम रहे हैं. 

कोरोना के अबतक जो भी मामले सामने आए हैं, उनमें से अधिकांश कंटेनमेंट जोन में हैं. इनमें एक दूसरे के संपर्क में आने पर संक्रमण फैला है. कंटेनमेंट जोन के अलावा संक्रमण वहां फैला है जहां जाने-अनजाने संक्रमित मरीज नियमों का पालन ना करते हुए होम क्वारंटाइन से बाहर आ रहे हैं. 

मुजफ्फरपुर: गांवों में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी करेगा प्रशासन

जिला प्रशासन के आंकड़ों के मुताबिक, एसकेएमसीएच में अभी कोरोना के 32 गंभीर मरीज भर्ती हैं. तुर्की कोविड केयर सेंटर में 51 मरीज हैं. जिले में कोरोना की रफ्तार कम नहीं हो रही है. फिलहाल करीब सौ मरीज हर रोज डिटेक्ट हो रहे हैं. जिले में कोरोना केस तीन हजार से ज्यादा हैं जिनमें डेढ़ हजार होम क्वारंटाइन में हैं और कई मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. 

मुजफ्फरपुर: कोरोना काल में चमकी-बुखार की दस्तक, एक बच्ची की मौत, छह भर्ती

जिले में कुल 83 मरीज इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में हैं. होम क्वारंटाइन में रह रहे लोग लापरवाही कर रहे हैं. ये एक-दूसरे के संपर्क में अनजाने या लापरवाही में संक्रमण के वाहक बन रहे हैं. लोग होम क्वारंटाइन होने की अनिवार्यता का पालन नहीं कर रहे हैं. सिविल  सर्जन एसपी सिंह ने बताया कि कोरोना जिले में कोरोना पॉजिटिव केस तीन संक्रमण को रोकने के लिए कंटेनमेंट जोन की कड़ी निगरानी की जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें