मुजफ्फरपुर: ट्रक ड्राइवर से मारपीट करने के मामले में सिंचाई विभाग के जेई को जेल

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Nov 2020, 2:21 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में सिंचाई विभाग के जेई को ट्रक ड्राइवर के साथ मारपीट के आरोप में न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. जेई मधुबनी जिले के राहिका थाना क्षेत्र का रहना वाला है. आरोप है कि जेई ने ट्रक ड्राइवर को बंधक बानाकर मारपीट की. 
मुजफ्फरपुर में सिंचाई विभाग के जेई को ट्रक ड्राइवर से मारपीट करने के मामले में कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के बेला में सिंचाई विभाग के जेई को ट्रक चालक से मारपीट के आरोप में गुरुवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. जेई पर आरोप है कि उसने ट्रक चालक को बंधक बनाकर मारपीट की. जेई के विरुद्ध एफआईआर यूपी के गाजीपुर में रहने वाले ट्रक चालक सुभाष यादव ने बुधवार को कराई थी. रिपोर्ट में बंधक बनाकर मारपीट करने के साथ ही रंगदारी मांगने का आरोप भी लगाया है. जेई मधुबनी जिले के राहिका थाना क्षेत्र का रहना वाला है.

बेला थानेदार धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि तीन नवंबर को जेई राधेश्याम सिंह की कार में ट्रक से ठोकर लग गई थी. जिसके बाद जेई ने जेई ने ट्रक चालक से हरजाना के रुप में 10 हजार रुपये वसूल लिए थे. फिर 80 हजार रुपयों की मांग करने लगा. ट्रक चालक के इनकार करने पर उसे बेला फेज वन स्थित अपने कार्यालय ले गया. ट्रक चालक मुर्गी दाना लेकर बेला पहुंचा था.

पटना: देसी कट्टे के साथ महिला गिरफ्तार, आरोपी पति फरार

कार्यालय के एक कमरे में चालक को बंद कर दिया और रात नौ बजे ताला बंदकर जेई निकल गया. इस बात की जानकारी ट्रक चालक के परिवार को प्राप्त हुई. सूचना मिली कि सुभाष का अपहरण कार सवार ने किया है. इसके बाद परिजन ने मुजफ्फरपुर एसएसपी को घटना की जानकारी दी. फिर अधिकारी के निर्देश पर बेला थानेदार जांच के लिए निकले. घटना के करीब 13 घंटे बाद ही सूचना मिलने पर बेला पुलिस ने जेई के कार्यालय का ताला तोड़कर सुभाष को मुक्त कराया.

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट 2021 की वार्षिक परीक्षा तिथि में बदलाव, जानें नई तारीख

इस बीच पुलिस ने जेई से कई बार संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन जेई बचकर भागता रहा. जिसके बाद चार नवंबर की शाम पांच बजे पुलिस ने जेई को मिठनपुरा से गिरफ्तार कर लिया. हिरासत में जाने से पहले जेई ने भी ट्रक चालक सुभाष यादव के खिलाफ बेला थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी. जिसमें ठोकर मारने और मारपीट करने का आरोप लगाया. बेला थानेदार ने अधिकारी के निर्देश पर ट्रक चालक को थाने से ही जमानत दे दी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें