मुजफ्फरपुर: पैसे ना मिलने पर गुस्से में तोड़ा ATM, लोगों ने जमकर पीटा

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 07:36 AM IST
  • मुजफ्फरपुर में एटीएम से पैसे ना मिलने पर गुस्से में आए एक शख्स ने एटीएम मशीन और एटीएम का दरवाजा तोड़ा. उसको रोकने के लिए स्थानीय लोग इकट्ठा हो गए लेकिन वो नहीं माना. भीड़ जमा होने पर लोगों ने उसे जमकर पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया. 
मुजफ्फरपुर: पैसे ना मिलने पर गुस्से में तोड़ा ATM, लोगों ने जमकर पीटा

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के सरैयागंज में लगे आईडीबीआई बैंक के एटीएम से रुपये नहीं निकलने पर रविवार को एक शख्स ने उसके मशीन और दरवाजे को तोड़ दिया. उसके ऐसा करने पर लोगों की भीड़ वहां जमा हो गई. लोगों ने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन वो नहीं माना और एटीएम को और नुकसान पहुंचाने लगा तो लोगों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पीटा. स्थानीय लोगों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया जिसके बाद पुलिस ने उससे, आस-पास के लोगों से पूछताछ की और जांच में जुट गई.

दरअसल, छाता बाजार निवासी छोटा शकील सरैयागंज स्थित आईडीबीआई के एटीएम से रुपये निकालने गया. लेकिन, मशीन से रुपए नहीं निकले. उसने कई बार कोशिश की लेकिन उसे रुपए नहीं मिले. इससे वो गुस्से में आ गया और एटीएम सी स्क्रीन तोड़ दी. उसके बाद उसने ईंट की मदद से एटीएम के कांच के दरवाजे को तोड़ दिया. तोड़ फोड़ देख कर आस-पास के लोग जमा हो गए. उन्होंने व्यक्ति को रोका लेकिन वो नहीं माना और फिर भी एटीएम तोड़ता रहा. उसे रोकने के लिए लोगों ने उसे पकड़ लिया.

मुजफ्फरपुर में खून का काला बाजार, ब्लड डोनेशन के नाम पर गोरखधंधा, 6 अरेस्ट

टूटा हुआ एटीएम का कांच और पास पड़ी ईंट

गुस्साए लोगों ने उसे जमकर पीटा. पुलिस को घटना की सूचना दी गई. पुलिस मौके पर पहुंची तो उस शख्य को पुलिस के हवाले कर दिया. आईडीबीआई बैंक के स्टॉफ भी मौके पर पहुंचे. मामले की शिकायत नगर थाने में दर्ज करवाई गई. पुलिस ने जांच शुरू की और आस-पास के लोगों से बात की. पुलिस ने छोटा शकील से भी पूछताछ की. 

मातृत्व लाभ बिचौलिया घोटाले में आरोपी लेखपाल पर पुलिस का शिकंजा, दर्ज एक और FIR

उसने बताया कि उसे कुछ रुपयों की जरूरत थी. उसने एटीएम से निकालने की कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं हुआ. कई बार प्रयास करने पर भी जब उसे रुपए नहीं मिले तो वो गुस्से में आ गया और ताव में उसने तोड़फोड़ करनी शुरू कर दी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें