मुजफ्फरपुर: चुनाव जीतने की खुशी में बंदूक से कर दी फायरिंग, मुखिया पति समेत तीन गिरफ्तार

Somya Sri, Last updated: Thu, 14th Oct 2021, 10:23 AM IST
  • मुजफ्फरपुर के सकरा प्रखंड के डीहुली इस्साक पंचायत में मुखिया पति कृष्णा राम अपनी पत्नी के जीत का जश्न मना रहे थे. इसी दौरान उन्होंने बंदूक से फायरिंग कर दी. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा. जिस पर संज्ञान लेते हुए पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने मुखिया पति कृष्णा राम के साथ उनके दो साथी को भी गिरफ्तार कर लिया.
मुजफ्फरपुर: चुनाव जीतने की खुशी में बंदूक से कर दी फायरिंग, मुखिया पति समेत तीन गिरफ्तार (प्रतिकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर: मुजफ्फरपुर के सकरा प्रखंड में चुनाव और मतगणना संपन्न हो चुका है. जो उम्मीदवार चुनाव जीत गए हैं वे इसका जश्न मना रहे हैं. हालांकि जश्न मनाने के दौरान मुखिया पति और उनके दो साथियों द्वारा बन्दूक से फायरिंग की खबर है. ताजा मामला मुजफ्फरपुर के सकरा प्रखंड के डीहुली इस्साक पंचायत में मुखिया पति कृष्णा राम अपनी पत्नी के जीत का जश्न मना रहे थे. इसी दौरान उन्होंने बंदूक से फायरिंग कर दी. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा. जिस पर संज्ञान लेते हुए पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने मुखिया पति कृष्णा राम के साथ उनके दो साथी को भी गिरफ्तार कर लिया. वहीं मौके से एक बंदूक और 5 गोलियां बरामद की गई है.

बताया जा रहा है कि मुजफ्फरपुर के सकरा प्रखंड के डी होली ईशा पंचायत में चुनाव जीतने का जश्न मनाया जा रहा था. इस दौरान फोर व्हीलर में खुद मुखिया पति और उनकी पत्नी सवार होकर जीत का जुलूस निकाल रहे थे. उनके साथ सैकड़ों समर्थक भी मौजूद थे. इस दौरान एक समर्थक मनोज राय ने बंदूक से फायरिंग की जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. पुलिस ने जब वीडियो का सत्यपान कर छापेमारी की तो गांव से मुखिया पति कृष्णा राम फायरिंग करने वाले मनोज राय और अरविंद राय को गिरफ्तार कर लिया गया. मौके से हर्ष फायरिंग में इस्तेमाल किए गए बंदूक और 5 गोलियां भी बरामद की गई है.

100KW का सोलर सिस्टम को कबाड़ बना हर महीने 10 लाख का बिजली बिल भर रहा है बीआरए विवि

पुलिस ने बताया कि तीनों के ऊपर एफ आई आर दर्ज कर जेल भेज दिया गया है. बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब एक मुखिया पति द्वारा ऐसी करतूत सामने आई हो. इससे पहले मुजफ्फरपुर के पूर्व सदर थाना क्षेत्र के सुस्ता में एक मुखिया ने शराब की पार्टी ऑर्गेनाइज की थी. उसके साथ समर्थक और वोटर भी मौजूद थे. गुप्त सूचना पर जब पुलिस ने छापेमारी की तो मौके से मुखिया पति फरार हो गया. जबकि कई अन्य समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें