दिल्ली से मुजफ्फरपुर आ रही बस का टायर फटा, अनियंत्रित कार बस में घुसी, दो की मौत

Smart News Team, Last updated: 11/10/2020 09:17 AM IST
. दिल्ली से मुजफ्परपुर आ रही बस शनिवार को हादसे का शिकार हो गई. इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक दिल्ली से मुजफ्फरपुर आ रही एक प्राइवेट बस लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर हादसे का शिकार हो गई. बस टायर फट जाने के कारण अनियंत्रित हो गई। इस दौरान बस यात्री नीचे उतरकर रोड पर जमा हो गए. इसी बीच पीछे से आ रही कार अनियंत्रित हो गई और बस में जा घुसी। इसकी वजह से दो लोगों की मौत हो गई. इसमें एक मुजफ्फरपुर के महदिया निवासी और दूसरी कार सवार महिला है. पांच लोग इसमें गंभीर रूप से जख्मी भी हैं. जिन्हें कानपुर मेडिकल कालेज रेफर किया गया है.                                                                                                             . जिले में शनिवार को 21 केंद्रों पर एग्रिकल्चर डेंटल और पालिटेक्निक की परीक्षा की शुरुआत की गई. सात अलग-अलग पारियों में विभिन्न विषयों की परीक्षाएं ली गई. परीक्षा में विद्यार्थियों के जूता पहनने पर पाबंदी थी. कई केंद्रों पर विद्यार्थियों का ना सिर्फ जूता उतरवाया गया बल्कि जो परीक्षार्थी फुल शर्ट पहनकर आए थे. वो भी उनसे उतरवाई गई. परीक्षार्थी 8 बजे से ही लाइन में लगे हुए थे और सख्त जांच के बाद ही उन्हें परीक्षा हाल में जाने दिया गया. रविवार को भी यह परीक्षा है आधे छात्रों की परीक्षा शनिवार को ली गई और आधे छात्रों की परीक्षा रविवार को ली जाएगी.                                                                      . शिक्षा विभाग की ओर से मृत शिक्षक को वेतन भुगतान करने का मामला सामने आया है. मुजफ्फरपुर जिले में यह मामला 2017-18 का है, बीओ की मिलीभगत से एक शिक्षिका जिसकी मृत्यु दिसंबर 2017 में ही हो गई थी, उनके वेतन का भुगतान मई 2018 तक किया गया. इसके अलावा बड़ी संख्या में एक ही शिक्षक को दो-दो बार वेतन दिया गया. इस मामले में बीओ पर कार्रवाई भी की गई थी पर बीओ ने अपील दायर कर दी थी। अब प्रधान सचिव ने इस मामले में दोनों पक्ष की सुनवाई की और सारे सबूत देखने के बाद यह निर्णय किया है कि बीओ पर लगाए आरोप सही हैं और उन पर कार्रवाई की मुहर लगा दी.                              . मुजफ्फरपुर में शहरी इलाकों में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है. कई परिवार ऐसे हैं जहां परिवार के सभी सदस्य डेंगु की चपेट में आ रहे हैं. पीड़ित परिवारों ने कहा है कि वे डेंगु से पीड़ित हैं लेकिन ना ही नगर निगम और ना ही स्वास्थ्य विभाग में सुनावई हो रही है. शहर के कई इलाकों में जल जमाव होने से लोग लगातार बीमारियों का शिकार हो रहे हैं. डेंगू जैसी खतरनाकर बीमारी की चपेट में आने के कारण शहरवासी त्रस्त हैं और लोग प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं कि इस समस्या का हल किया जाए लेकिन प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग आंखें मूंद कर बैठा है.                                                                                                 .बिहार विधानसभा चुनाव में सोशल मीडिया पर इस बार खासी निगरानी रहेगी. इसे लेकर प्रशासन ने एक टीम का गठन किया है. इसका निरीक्षण शनिवार को डीएम चंद्रशेखर सिंह ने किया. डीएम ने कहा कि इसके जरिए सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखी जा रही है. सोशल मीडिया को कोई भी पेड न्यूज चलाने से पहले उसकी प्रमाणिकता को साबित करना होगा. इस साबित करने के बाद ही वो इस न्यूज को चला सकते हैं. सभी अधिकारियों को भी इस संबंधी सख्त हिदायत दी गई है कि वो इसकी पूरी तरीके से मानीटरिंग करेंगे.
मुजफ्फरपुर बुलेटिन
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें