मुजफ्फरपुर: कोविड टीकाकरण के लिए मची होड़, कही वैक्सीन तो कहीं स्लॉट खत्म

Smart News Team, Last updated: Sat, 15th May 2021, 8:00 AM IST
  • मुजफ्फरपुर में वैक्सीन की कमी और स्लॉट न होने के चलते लोगों के बीच टीकाकरण के लिए होड़ मची हुई है. स्लॉट इतनी तेजी से भर जाते हैं कि 18 से ऊपर के युवाओं को स्लॉट बुक कराने के लिए बहुत माथापच्ची करनी पड़ रही है.
मुजफ्फरपुर: कोविड टीकाकरण के लिए मची होड़, कही वैक्सीन तो कहीं स्लॉट खत्म

मुजफ्फरपुर: देश भर में कोरोना के कहर से बचने के लिए टीकाकरण कराया जा रहा है. वैक्सीन की कमी और स्लॉट न होने के चलते रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया से साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोगों के बीच टीकाकरण के लिए कितनी होड़ मची हुई है. स्लॉट इतनी तेजी से भर जाते हैं कि 18 से ऊपर के युवाओं को स्लॉट बुक कराने के लिए बहुत माथापच्ची करनी पड़ रही है. वहीं सेकंड डोस लगवाने वालों को वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण टीकाकरण केंद्र के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं.

मड़वन पीएचसी में मधुबन के गांधी जानकी हाई स्कूल में 18 से ऊपर के युवाओं का टीकाकरण किया जा था है. जांच में सामने आया कि यहां 18 वर्ष से ऊपर के लाभुकों के अलावा 45 से अधिक उम्र को लोगों को भी टीका लगाया जा रहा है. इसके अलावा यहां सभी स्लॉट 2 से 4 मिनट में बुक हो जाते हैं. पीएचसी प्रभारी डॉक्टर संजीव मिश्रा ने बताया कि प्रतिदिन लगभग 300 से 400 लाभुकों को टिका दिया जा रहा है.

पप्पू यादव की तबियत खराब डीएमसीएच के आईसीयू में भर्ती, CM नीतीश से कहा हमें....

औराई पीएचसी में 18 वर्ष से ऊपर वालों के लिए टीका उपलब्ध है लेकिन 45 से ऊपर वाले लाभुकों के लिए टीका पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है. मामले को लेकर स्वास्थ्य प्रबंधक राहुल कुमार ने बताया कि कई दिनों से 45 वर्ष से ऊपर वाले लाभुकों के लिए टीका पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रहा है. 18 से ऊपर वालों के लिए टीका का लक्ष्य प्रतिदिन 200 है. इसके एवज में 110 से 130 तक रोज टीकाकरण हो रहा है. वहीं 45 से ऊपर वाले बालों के लिए टीके की कमी है. दूसरे डोस वालों को समय सीमा 4 से 5 सप्ताह के बीच बताकर लौटाया जा रहा है.

LJP अध्यक्ष चिराग पासवान हुए कोरोना के शिकार, हुई हालत गंभीर

कटरा पीएचसी में 18 से 44 वर्ष के लोग लगातार अस्पतालों के चक्कर लगा रहे हैं तब भी उन्हें वैक्सीन के स्लॉट नहीं मिल पा रहा है. प्रखंड के मध्य विद्यालय कटरा में 18 से 44 वर्ष और 44 के ऊपर के लोगों को 17 केंद्रों पर टीका लगाया जा रहा है. स्वास्थ्य प्रबंधक भास्कर कुमार का कहना है कि माइक्रो प्लान के अनुसार केंद्रों पर नियमित रूप से टीका दिया जा रहा है.

गायघाट में स्लॉट रजिस्ट्रेशन खुलने के 10 मिनट के अंदर ही सभी स्लॉट बुक हो जाते हैं. बताते चलें कि एनएच के पास प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी भवन में 45 वर्ष से कम आयु वाले लाभुकों का टीकाकरण किया जा रहा है. इस केंद्र तक यातायात की सुविधा होने से आसपास के जिलों के लोग इसी केंद्र में स्लॉट बुक करा लेते हैं जिसके कारण स्थानीय लाभुक टीकाकरण करवाने से वंचित रह जाते हैं.

बिहार में कोरोना ने छीनी कइयों की जिंदगी, जिसमे लेखक, कलाकार भी शामिल

बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित सदर अस्पताल में शुक्रवार को टीका लगवाने के लिए फ्रंटलाइन वर्कर, हेल्थ केयर वर्कर, 18 वर्ष से ऊपर के युवा और 60 साल से अधिक के बुजुर्ग लोगों की लंबी कतार लगी हुई थी. टीका लगवाने वाले व्यक्ति को अपने रजिस्ट्रेशन नंबर का वेरिफिकेशन कराने के बाद 4 अंकों का कोड बताने पर ही टिका दिया जा रहा था. अस्पताल में टीके के लिए ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की उम्मीद में बड़ी संख्या में युवा पहुंचे थे लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी. जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने वैक्सीन की कमी की अफवाहों को खारिज करते हुए कहा कि पर्याप्त डोस उपलब्ध है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें