मुजफ्फरपुर जहरीली शराब कांड मामले में पुलिस ने सेंट्रल जेल जाकर ली तलाशी

Indrajeet kumar, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 1:44 PM IST
  • मुजफ्फरपुर जहरीली शराब कांड मामले में पुलिस ने मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल जाकर गोपनीय रूप से छानबीन की. पुलिस ने जेल में बंद शराब माफिया से पूछताछ कर मोतिहारी, वैशाली और बॉर्डर इलाके में छापेमारी भी की है.
 फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर जहरीली शराब कांड में नया मोड़ आया है. पुलिस की जांच मे पता चला है कि शराब बनाने वाले गिरोह का मास्टरमाइंड में पिछले छह महीने से मुजफ्फरपुर सेंट्रल जेल में बंद है. फिलहाल इसके गुर्गे शराब बनाने का धंधा करते हैं. इस मामले की तह में जाने के लिए पुलिस ने गोपनीय तरीके से जेल में जाकर छानबीन किया है. पुलिस ने जेल में बंद शराब माफिया से भी पूछताछ की है. पुलिस ने शराब माफिया से पूछताछ के बाद मोतिहारी, वैशाली और बॉर्डर इलाके में छापेमारी भी की है. लेकिन अब तक कोई सुराग नहीं मिल है. पुलिस एक बार फिर शराब माफिया से पूछताछ कर सकती है ताकि फरार डीलर समेत उसके गिरोह का पता चल सके.

पुलिस जांच में पता चल है कि शराब माफिया नकली शराब सेल करने के लिए कबाड़ दुकान से शराब की खाली बोतल खरीदते हैं. शहर के सबसे बड़े कबड़खाना चांदनी चौक और ब्रह्मपुरा में पहले भी छापेमारी हो चुकी है. वहां शराब की सैकड़ों खाली बोतलें मिली थी. लेकिन कबाड़खाना संचालक को गिरफ्तार नहीं किया गया. पुलिस के छापेमारी के बाद भी कबाड़खानों में चोरी छिपे बड़े पैमाने पर शराब की खाली बोतलों की बेची जा रही है. पुलिस कबाड़खाना पर कार्रवाई की तैयारी में जुट गई है.

मुजफ्फरपुर में जहरीली शराब ने तीन को उतारा मौत के घाट, कई बीमार, पार्टी में जमकर पी थी दारू

जिले के सरैया में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों के मौत के मामले में अब तक 2 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर लिया है. इसके बाद तीसरी FIR जैतपुर ओपी प्रभारी संतोष कुमार के बयान पर दर्ज किया गया है. इस मामले में पुलिस ने मनीष कुमार, रामएकबाल साह, अभिषेक और मनीष कुमार समेत अन्य आरोपी बनाया गया है. इन सभी आरोपितों पर शराब खरीदने और बेचने का आरोप लगा है. बताया जा रहा है कि अन्य आरोपी भी इसी गिरोह से जुड़े हैं.घटनाके बाद सभी आरोपित इलाके से फरार हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें