मुजफ्फरपुर में समाजसेवक ने शौक के लिए शुरू किया साइकिल चलाना, लेकिन एक गलती से पहुंचा अस्पताल

Haimendra Singh, Last updated: Sat, 13th Nov 2021, 11:15 AM IST
  • मुजफ्फरपुर में एक समाजसेवक ने पर्यावरण संरक्षण और शौक के लिए साइकिल चलाना शुरू किया था, इस साइकिल ने उन्हें हॉस्पिटल पहुंचा दिया. बता दें, साइकिल चलाते समाजसेवक एक बाइक सवार ने टक्कर मार दी, जिससे वह घायल होकर अस्पताल पहुंच गए.
साइकिल ने समाजसेवक का अस्पताल पहुंचाया.( सांकेतिक फोटो )

मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने के बाद एक समाजसेवी ने मोटरसाइकिल छोड़ साइकिल चलाना शुरू किया. मजबूरी में शुरू किए गए इस प्रयोग को समाजसेवी जी ने अपना शौक बना लिया, लेकिन समाजसेवक के इस शौक ने उन्हें अस्पताल पहुंचा दिया. बता दें कि अपने मौहल्लें में साइकिल चलाते समय ही समाजसेवी को बाइक सवार ने टक्कर मार दी जिसमें वह गंभीर रुप से घायल हो गए. इस एक्सीडेंट में उनकी जान तो बच गई, लेकिन उन्हें काफी दिन हॉस्पिटल में गुजारने पड़े. स्थानीय लोगों के कहना है कि वह व्यकित हमेशा लोगों को हमेशा ट्रैफिक नियमों का ज्ञान देते रहते है.

मिली जानकारी के अनुसार, समाजसेवक पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम और पर्यावरण सुरक्षा आदि को लेकर हमेशा लोगों को जागरुक करते रहते है. अपने संगठन के माध्यम से समाजसेवी हमेशा ही सड़क सुरक्षा और यातायात नियमों में कमी को हमेशा से ही सवाल उठाते रहे है. साथ विभिन्न माध्यम से लोगों को जागरूक भी करते हैं, लेकिन वह अपनी सुरक्षा नहीं कर पाए. साइकिल से टक्कर होने के बाद लोगों के अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं दी. कुछ लोगों ने हादसे में घायल हुए समाजसेवी के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त किए हैं तो कुछ का कहना है कि जब साइकिल चलानी नहीं आती तो क्यो चलाई.

शराब पीने के आरोपी की जेल में मौत, परिजनों ने पुलिस पर मारपीट का लगाया आरोप

बाल-बाल बची समाजसेवी की जान

लोगों ने कहा, समाजसेवी हमेशा लोगों को पर्यावरण सरंक्षण और सड़क सुरक्षा को लेकर हमेशा लोगों को जागरुक करते थे. साइकिल चलाने मोटरसाइकिल की टक्कर से गंभीर रुप से घायल हो गए थे. जिसके बाद काफी समय तक उन्हें अस्पताल में रहना है. इसपर लोगों का कहना है कि साइकिल ने समाजसेवी को अस्पताल पहुंचा दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें