विभागीय काम में दिलचस्पी नहीं ले रहे दरोगा समेत तीन को SSP ने किया सस्पेंड

Smart News Team, Last updated: 09/09/2020 08:29 AM IST
  • एसएसपी ने बताया कि बार-बार आदेश देने के बावजूद भी ये पदाधिकारी दिए गए टास्क में दिलचस्पी नहीं ले रहे थे. इसके साथ ही निलंबित पदाधिकारियों में एक पदाधिकारी एससी/एसटी एक्ट के केस के जांच में लापरवाही बरत रहे थे. ऐसे में जब नगर डीएसपी ने समीक्षा की को इनकी लापरवाही पकड़ में आई.
मुजफ्फरपुर में अनुसंधान और विभागीय काम में लापरवारी बरतने पर दरोगा समेत कुल तीन पदाधिकारियों को एसएसपी जयंतकांत ने निलंबित कर दिया है.

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर में अनुसंधान और विभागीय काम में लापरवारी बरतने पर दरोगा समेत कुल तीन पदाधिकारियों को एसएसपी जयंतकांत ने निलंबित कर दिया है. तीनों पदाधिकारी अहियापुर थाने में तैनात थे. इन पदाधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए पुलिस लाइन में योगदान देने का निर्देश दिया गया है. एसएसपी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि दरोगा जितेंद्र कुमार समेत तीन पुलिस अफसरों पर यह कारवाई की गई है.

मुजफ्फरपुर: सेफ्टी टैंक सेंटिंग हटाने गए 2 भाइयों की दम घुटने से मौत, पिता बेहोश

एसएसपी ने बताया कि तीनों पदाधिकारियों पर अपने काम में कार्य में लापरवारी बरतने का आरोप है. उन्होंने बताया कि चुनाव के मद्देनजर वारंट और कुर्की का तेज गति से निपटारा कराया जा रहा है. ऐसे में सभी पदाधिकारियों को इससे संबंधित टास्क दिया गया है. लेकिन इन पदाधिकारियों द्वारा इसमें रूचि नहीं लेने पर कार्रवाई की गई है.

दीघरा अपहरणकांड की जांच में सुराग खोज रही पुलिस, गुत्थी सुलझाने में जुटी

उन्होंने कहा कि बार-बार आदेश देने के बावजूद भी ये पदाधिकारी दिए गए टास्क में दिलचस्पी नहीं ले रहे थे. इसके साथ ही निलंबित पदाधिकारियों में एक पदाधिकारी एससी/एसटी एक्ट के केस के जांच में लापरवाही बरत रहे थे. ऐसे में जब नगर डीएसपी ने समीक्षा की को इनकी लापरवाही पकड़ में आई. इनको दिए केस में अब तक कोई अपडेट नहीं हुआ था. इसके बाद ही डीएसपी के रिपोर्ट के आधार पर उक्त पदाधिकारी को निलंबित कर दिया गया है. वहीं, तीसरे अफसर पर भी विभागीय कार्य में रूचि नहीं लेने पर कार्रवाई की गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें